दर्शन सिंह, फिरोजपुर : शहर में राज्य सरकार की कुछ जमीन पर लोगों के लिए पार्क बनाए जा चुके हैं, जबकि कुछ जमीन पर भू-माफिया काबिज होता जा रहा है। खासकर गोलबाग और दशहरा ग्राउंड से सटी जमीन कब्जाधारियों में बंटती जा रही है। कभी सैरगाह के लिए जाने जाते गोलबाग के एक हिस्से में काफी लोग कब्जा कर चुके हैं, जबकि कुछ हिस्से में कब्जा होने का खतरा मंडरा रहा है। यही हाल दशहरा ग्राउंड से सटी जमीन का है।

सूत्रों के अनुसार गोलबाग की जमीन पर कब्जे में विभिन्न पार्टियों का भी हाथ है और कई नेता अपना वोट बैंक पक्का करने के लिए ऐसा कर रहे हैं। पुडा अधिकारी भी स्मतल जगह न होने से बाग की बची जमीन को लेने से इंकार कर चुके हैं। गोलबाग में एक दो जगहों पर धार्मिक स्थल बनाकर कब्जा हो चुका है, जबकि काफी जगह स्कूल बनाकर कब्जा कर लिया गया। एक हिस्से में वेटरनरी अस्पताल बना दिया गया था, जिसकी हालत बदतर हो चुकी है। इसके अलावा एक हिस्से में कौंसिल का कब्जा हो चुका है ।

शहरवासी बुजुर्ग बलकार सिंह, विरसा सिंह, सतनाम सिंह, गुरदित सिंह, साधू सिंह व सुरेश कुमार ने बताया कि गोलबाग में तीन दशक पहले जनत का नजारा देखने को मिलता था। यहां हर किस्म के फलदार पेड़ व पौधे होते थे और प्रशासन भी हर साल बाग का ठेका देकर कमाई करता था, लेकिन कुछ समय पहले बाग में गंदगी फेंकनी शुरू कर दी गई और धीरे-धीरे बाग पर कब्जा होने लगा। बाग की मिट्टी चोरी होने लगी और बाग के कुछ हिस्से में बड़े खड्डे बना दिए गये जो अभी भी गंदगी फेंकने के लिए इस्तेमाल हो रहे हैं। पुडा को दी गई है गोलबाग की जमीन : मोहित

नगर कौंसिल के अर्बन प्लानर मोहित ने कहा कि गोलबाग की 12 एकड़ जमीन को पुडा को दिया गया था, लेकिन अभी वे हैंड ओवर हुई है या नहीं उसके बारे नही जानते। दशहरा ग्राउंड के साथ सटी जमीन भी राज्य सरकार ही है । इसके बारे में उच्चाधिकारी ही बता सकते हैं । कोट्स

इस बारे में जानकारी नही है। एसडीएम से कब्जा करने वालों के खिलाफ कार्रवाई के लिए कहेंगे।

गुरपाल सिंह चाहल, डिप्टी कमिश्नर, फिरोजपुर

Edited By: Jagran