फिरोजपुर [प्रदीप कुमार सिंह]। अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित हुआ जैश-ए-मोहम्मद का मुखिया मसूद अजहर पंजाब में लोकसभा चुनाव के दौरान गड़बड़ी करने की फिराक में है। अजहर के खतरनाक इरादों काे भांपते हुए सुरक्षा एजेंसियां हाईअलर्ट पर हैं। एजेंसियों को मिले इनपुट के आधार पर पिछले चार दिनों से जम्मूतवी से आने वाली ट्रेनों व वाहनों की जांच की जा रही है। पंजाब पाकिस्तान सीमा से सटा हुआ है। यहां के कई रेलवे स्टेशन व शहर सरहद से सटे होने के कारण अति संवेदनशील है।

खुफिया एजेंसियों के मुताबिक आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद 19 मई को पंजाब में होने जा रहे मतदान से पहले किसी बड़ी वारदात को अंजाम दिए जाने की फिराक में है। जिसे लेकर पूरे पंजाब में सुरक्षा एजेंसियों को हाई अलर्ट पर रखा गया है। शहर में भी चलने वाले वाहनों की जगह-जगह पर तलाशी की जा रही है।

जम्मू-कश्मीर के पुलमावा में हुए आंतकी हमले को देखते हुए सुरक्षा बलों के वाहनों के काफिलों के आवागमन में भी अतिरिक्त सावधानी बरती जा रही है। सुरक्षा एजेंसियां जम्मूतवी से पंजाब में खासकर सरहदी हिस्सों से गुजरने वाली रेलगाड़ियों पर विशेष निगाह रखे हुए है। पिछले चार दिनों में जम्मूतवी से अहमदाबाद जा रही जम्मूतवी एक्सप्रेस रेलगाड़ी को एक ही दिन में एक नहीं तीन-तीन बड़े स्टेशनों पर रोककर विभिन्न एजेंसियों के वरिष्ठ अधिकारियों के नेतृत्व में गहनता से जांच की जा रही है।

हालांकि इस जांच का कारण अधिकारियों द्वारा चुनाव को देखते हुए इसे रूटीन की चेकिंग बताया जा रहा है, परंतु जिस प्रकार से एसपी, एसएसपी रैंक के कई अधिकारी ढ़ाई से तीन सौ पुलिस व अद्धसैनिक बल के जवानों के साथ औचक जम्मूतवी से आ रही रेलगाड़ी के कुछ एक कोचों की जांच कर रहे है वह कहीं न कहीं रूटीन जांच न होकर कुछ और संदेश दे रही है।

सूत्र बता रहे हैंं कि बरगाड़ी कांड को लेकर पहले ही प्रदेश में स्थित तनावपूर्ण है। चुनाव में राजनीतिक दलों द्वारा इस मुद्दे और गरमाया गया है। ऐसे माहौल को और बिगाड़ने के लिए जैश-ए-मोहम्मद अपने खतरनाक मंसूबों को अंजाम देने की साजिश रच रहा है। जिसकी भनक सुरक्षा एजेंसियों को समय रहते लग गई है, जिसके तहत ही फरीदकोट, बठिंडा, फिरोजपुर व तरनतारन के लोकसभा हलके के अधिकांश पोलिंग वूथों पर अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती की जा रही है।

बठिंडा के एसएसपी डॉ. नानक सिंह, फरीदकोट के एसएसपी राजवचन सिंह व फिरोजपुर के एसपी बलजीत सिंह द्वारा अपने-अपने जिलों में रेलगाड़ियों व वाहनों की गहनता से हाे रही जांच को चुनाव को देखते हुए रूटीन जांच बता रहे हैंं, परंतु फाजिल्का के एसएसपी दीपक हिलौरी ने प्रेसवार्ता के दौरान कहा कि बार्डर जिला होने के कारण सार्वजनिक स्थलों पर चौकसी बढ़ाई गई है, और सरहदी हिस्सों में विशेष रूप से निगरानी की जा रही है।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!