जासं, फिरोजपुर : गांव बजीदपुर के गुरुद्वारा जामनी साहिब में गुरु नानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व पर श्रद्धापूर्वक मनाया गया। श्री अखंड पाठ साहब जी के भोग डाले गए। बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने श्री गुरु ग्रंथ साहिब के अगे नतमस्तक होकर सरबत के भले की अरदास की। रागी जत्थों ने मंगलवार तड़के तीन बजे से शबद गायन और कीर्तन के साथ संगत को प्रभु चरणों से जोड़े रखा। फिरोजपुर के सभी गुरुद्वारों में मंगलवार अल सुबह ही धार्मिक समागम शुरू हो गए थे। चार बजे अल सुबह से ही संगत का आना शुरू हो गया। फिरोजपुर के गुरुद्वारा जामनी साहिब, गुरुद्वारा श्री अकालगढ़, फिरोजपुर सिटी स्थित गुरुद्वारा श्री संगतसर, कैंट स्थित गुरुद्वारा और गोबिंद नगरी स्थित गुरुद्वारा और आदि गुरुद्वारा साहिब में आयोजन हुए। कीर्तन दरबार सजाए गए। रात से ही लंगर की तैयारियां शुरू कर दी गई थी।

गुरुद्वारा जामनी साहिब में सुबह से चाय-पकौड़े और दिनभर लंगर लगाया गया। गुरुद्वारा साहिब में श्रद्धालुओं ने कड़ाह प्रसाद चढ़ाया। जामनी साहिब गुरुद्वारे के बाहर मेले जैसा माहौल था। पांच प्यारों के नेतृत्व में नगर कीर्तन निकाला गया और नगर कीर्तन अलग-अलग गांवों से होते हुए वापस गुरुद्वारा साहिब में संपन्न हुआ था। साफ-सफाई साथ-साथ सुरक्षा के प्रबंधक भी किए गए थे। दूर-दराज से गांवों की संगत पहुंची और माथा टेका। दूर-दराज से आए श्रद्धालु दोपहर को लंगर खाने के लिए कतार में लगे नजर आए। बड़ी संख्या में संगत सेवा में लगी रही।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!