संस, फिरोजपुर : कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुए गुरुहरसहाय के विधायक राणा गुरमीत सिंह सोढ़ी भले ही खुद को फिरोजपुर शहरी हलके से टिकट के प्रबल दावेदार मान रहे हैं, वहीं भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) के पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पंजाब भाजयुमो के पूर्व अध्यक्ष गुरपरवेज सिंह संधू (शैले) ने भी फिरोजपुर शहरी सीट से टिकट की दावेदारी जताई है ।

गुरपरवेज सिंह उर्फ शैले वर्ष 2012 और 2017 के विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा से टिकट की दावेदारी कर चुके हैं और पूर्व केंद्रीय मंत्री स्व. अरुण जेतली ने उन्हें यह कहकर टिकट देने से मना कर दिया था कि अभी युवा है और उनके लिए अभी उनके पास काफी समय है। गुरपरवेज शैले ने कहा कि अगर राणा सोढ़ी भाजपा में शामिल हुए हैं तो वे अपने हलके गुरुहरसहाय से चुनावी मैदान में पार्टी की टिकट से उतरे, न कि फिरोजपुर शहरी हलके से। उन्होंने कहा कि वे फिरोजपुर शहरी हलके के निवासी है और टिकट मिलने के बाद उनका मुद्दा होगा हलके का विकास करवाना। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री फिरोजपुर रैली में कुछ कारणों से नही पहुंचे और न ही बड़े प्रोजेक्टों की घोषणा कर पाए थे,अब पार्टी पीजीआइ समेत अन्य घोषणाओं को अपने चुनावी घोषणा पत्र में शामिल करेगी।

शैले ने कहा कि लंबे समय से मांग उठती रही है कि भारत-पाक सीमा को खोला जाए और फिरोजपुर में कोई बड़ी इंडस्ट्री स्थापित हो ताकि यहां के नौजवानों को काम मिल सके और तरक्की के रास्ते खुलें। इन बुनियादी समस्याओं का जल्द समाधान किया जाना जरूरी है।

Edited By: Jagran