जासं, फिरोजपुर: सोमवार को तहसील कार्यालय में चर्चा में रहा। एक तरफ जालंधर में एक तहसीलदार पर विजिलेंस की कार्रवाई के खिलाफ तहसीलदार कार्यालय में रजिस्ट्री का काम बंद रहा तो वहीं डीसी कार्यालय के बाहर तहसीलदार मनजीत ¨सह के खिलाफ लोगों ने धरना देकर रजिस्ट्री में जानबूझ कर देरी करने सहित अन्य गंभीर आरोप लगाए। पंजाब तहसीलदार यूनियन की हड़ताल की वजह से सोमवार को जिले की तीन तहसीलों व तीन सब तहसीलों में करीब 300 रजिस्ट्रयां नहीं हो सकी। इस कारण लोगों को निराश होकर लौटना पड़ा। इससे जिले में रजिस्ट्री न होने से करीब 15 लाख रुपये का रेवेन्यू प्रभावित हुआ। अगर देर रात तक सरकार से तहसीलदार यूनियन की वार्ता सिरे नहीं चढ़ी तो मंगलवार को भी हड़ताल की वजह से रजिस्ट्री का कामकाज ठप हो सकता है। इससे लोगों की परेशानी बढ़ेगी।

जिले में फिरोजपुर, जीरा और गुरुहरसहाय, सब तहसील कार्यालय ममदोट, तलवंडी भाई और मक्खू में भी काम बंद रहा है। फिरोजपुर तहसील कार्यालय में सुबह से ही तहसीलदार मनजीत ¨सह और नायब तहसीलदार नरेंद्र कुमार नहीं आए। तहसील में रजिस्ट्री क्लर्क के गेट पर ताला लटकाकर लिखा गया था कि आज तहसीलदार यूनियन की हड़ताल की वजह से रजिस्ट्री नहीं होगी। ऑनलाइन रजिस्ट्री प्रक्रिया में जिन्हें सोमवार की तारीख मिली थी, वे पक्षकार तहसील कार्यालय में आए और हड़ताल का पता लगने पर वापस चले गए। इस कारण लोगों को परेशानी हुई।

स्थानीय तहसील कार्यालय में आए हरबख्श ¨सह, मलकीत ¨सह व अन्य लोगों ने बताया कि जब से रजिस्ट्री ऑनलाइन हुई हैं। तब से सॉफ्टवेयर से तारीख मिलती है। ऐसी स्थिति में अगले दिन भी काम नहीं हो सकता। अब दोबारा तारीख लेनी पड़ेगी। डीसी रामवीर के अनुसार जिले में तहसीलदार यूनियन की हड़ताल की वजह से रजिस्ट्री का काम बंद रहा है। ऐसी स्थिति पूरे राज्य में रही है। मंगलवार को काम होने की उम्मीद है। तहसीलदार मनजीत सिंह ने आरोपों को निराधार बताया। उन्होंने कहा कि काम नियमानुसार ही किया जाता हैं। चाहे शिकायतकर्ता इसकी किसी से भी जांच करवा ले।

तहसीलदार पर रजिस्ट्री देरी से करने का आरोप

सोमवार को लोक इंसाफ पार्टी सहित विभिन्न संगठनों ने तहसीलदार मनजीत सिंह पर रजिस्ट्री में देरी करने सहित अन्य गंभीर आरोप लगाते हुए डीसी कार्यालय के मुख्य गेट पास धरना दिया। धरने में शामिल पार्टी के जिलाध्यक्ष जस¨वद्र ¨सह भुल्लर, नवा पूर्वा गांव के सरपंच दरबारा ¨सह, आलेवाला के सरपंच हरबंस ¨सह, चानण ¨सह व अन्य ने आरोप लगाया कि जिन्हें रजिस्ट्री की तारीख 22 मई मिली थी, उनमें से कइ लोगों की रजिस्ट्री अभी तक नहीं हुई है। उनका आरोप था कि तहसीलदार मनमर्जी से नियम के विरुद्ध रजिस्ट्री करते हैं। उन्होंने ने कहा कि अगर इस मामले में जिला प्रशासन ने तहसीलदार के खिलाफ कार्रवाई नहीं की तो वे एफसीआर को शिकायत करेंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!