दीपक वधावन, गुरुहरसहाय : गांव शहीद उधम सिंह वाला में एक गरीब परिवार पर कुदरत का कहर टूट पड़ा है। एक वर्ष पहले तीन बच्चों के सिर से पिता का साया उठ जाने के कारण व विधवा मां के बीमार पड़ जाने के कारण दो बच्चों की पढ़ाई छूटने के साथ घर में खाने के लाले पड़ गए हैं। यही नहीं डेढ़ वर्षीय बच्चा दूध तक को तरस रहा है। भूख प्यास से जूझ रहे बच्चों ने मां के उपचार व घर के गुजारे के लिए प्रशासन व समाजसेवी लोगों से मदद की गुहार लगाई है ।

मनजीत कौर पत्नी स्व. महेंद्र सिंह ने बताया कि उनके पति गंभीर बीमार हो गए थे, जिनका कर्ज उठाकर उपचार करवाया, लेकिन एक वर्ष पहले उनके पति की मृत्यु हो गई। पति की मृत्यु के बाद आर्थिक तंगी के कारण 17 वर्षीय बेटी की पढ़ाई तक बंद करवानी पड़ी, क्योंकि पहले तो रिश्तेदार मदद करते रहे। उसके बाद उनका साथ भी छूट गया और फिर दूसरी 13 वर्षीय बेटी की भी पढ़ाई बंद करवानी पड़ी । उन्होंने बताया कि बेटियां छोटी होने के कारण कोई काम नहीं कर सकते हैं और वह खुद बीमारी से जूझने के कारण कोई काम नहीं कर सकती। मनजीत कौर ने बताया कि आर्थिक तंगी के कारण कई बार परिवार को भूखे पेट ही सोना पड़ता है और कई बार राशन आदि मांगकर गुजारा करते हैं। मनजीत कौर व पीड़ित बच्चों प्रशासन व सभी समाजसेवी लोगों से घर के गुजारे व इलाज के लिए मदद की गुहार लगाई है।

Edited By: Jagran