संवाद सूत्र, मक्खू (फिरोजपुर) : किसान मजदूर संघर्ष समिति पंजाब के नेतृत्व में किसानों मजदूरों ने रविवार को मक्खू नेशनल हाईवे-54 पर केंद्र सरकार का पुतला फूंककर प्रदर्शन किया। इस मौके जिला प्रधान इंद्रजीत सिंह बाठ, सुरिदर सिंह घुद्दूवाला, रणजीत सिंह और लखविदर सिंह बस्ती नामदेव ने कहा पिछले 11 माह से किसान और मजदूर दिल्ली की सड़कों पर बैठ कर अपने अधिकारों के लिए संघर्ष कर रहे हैं, लेकिन केंद्र सरकार किसानों को गाड़ियों के टायरों नीचे कुचल कर उनकी हत्या की जा रही है। इस मौके लखविदर सिंह जोगेवाला, गुरभेज सिंह फेमी वाला, साहब सिंह तलवंडी, जगतार सिंह, निर्मल सिंह, वीर सिंह,दयाल सिंह, सुखचैन सिंह, मुनशा सिंह, जरनैल सिंह, संदीप सिंह, काबल सिंह, तरसेम सिंह, सरमेल सिंह, इंद्रजीत सिंह आदि नेता उपस्थित थे।

कृषि कानूनों के विरोध में किसानों ने किया प्रदर्शन संवाद सूत्र, अरनीवाला :

मंडी अरनीवाला में किसान यूनियन की ओर से कृषि सुधार कानूनों के विरोध में केंद्र सरकार का पुतला फूंक प्रदर्शन किया गया। इस मौके नरिद्रपाल सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार लगातार देश विरोधी फैसले ले रही है, जिसके लिए जनता को एकजुट होने की जरूरत है।

इस मौके निशान सिंह ढिल्लों ने कहा कि किसानों को संयुक्त मोर्चा लगाए लगभग एक साल पूरा हो गया है, लेकिन केंद्र सरकार अपने अड़ियल रवैये पर बरकरार है। महासचिव केवलजीत सिंह भोला ने कहा कि किसानों को एक साल हो गया है, सिधु बार्डर पर बैठे, लेकिन खुद को किसान हितैषी कहने वाली केंद्र सरकार अभी तक उनकी मुश्किलों का हल नहीं कर पाई है। इस मौके बाबा मोहन सिंह ने कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर पुतला फूंक प्रदर्शन किया गया। आगे भी जो निर्देश मिलेंगे, उनके अनुसार संघर्ष किया जाएगा। उन्होंने कहा कि यह संघर्ष तब तक जारी रहेगा, जब तक तीनों कानून वापिस नहीं लिए जाते। इस मौके उग्र सिंह, जोगिद्र सिंह, बूथ सिंह, लखविद्र सिंह, सिमरनजीत सिंह, लखवीर सिंह ग्रेवाल, हरजीत सिंह, बाज सिंह, तेजा सिंह, मनजीत सिंह, सोहन सिंह, बलविद्र सिंह, गुरचरण सिंह, शमशेर सिंह, काबल सिंह व अन्य उपस्थित थे।

Edited By: Jagran