संवाद सूत्र, फिरोजपुर : तकनीक के क्षेत्र में विद्यार्थियों में तरक्की के नए मार्ग पैदा करने के उद्देश्य से डीसीएम ग्रुप ऑफ स्कूल्स ने आइआइटी रोपड़ से एमओयू साइन किया है।

हेड प्रोजेक्ट्स एंड को-आर्डिनेटर सोनल महाजन ने बताया कि इस समझौते के माध्यम से विद्यार्थियों के भीतर तकनीकी क्षेत्र में क्षमता का विकास होगा और वह अपने पैरो पर खड़े होकर देश के उत्थान में भागीदार बन सकेंगे। उन्होंने कहा कि यह आविष्कार उद्यमवृति के क्षेत्र में नई पहल है। इससे विद्यार्थियों के लिए तकनीक और अनुसंधान के नए मार्ग खुलेंगे तथा उन्हें तकनीकी क्षेत्र में नई जानकारी मुहैया होगी। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार के आत्मनिर्भर भारत तथा मेक इन इंडिया की तरफ यह एक कदम है।

महाजन ने कहा कि रिसर्च व टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में इससे विद्यार्थी प्रोत्साहित होंगे। सीनियर कार्यकारी अकेडमिक एंड प्रोजेक्टस वसुधा बजाज ने बताया कि समझौता ज्ञापन पर आइआइटी रोपड़ के सीईओ डॉ. जेके शर्मा और डीसीएम ग्रुप ऑफ स्कूल्स के डॉयरेक्टर एडमिन ब्रिगेडियर नवदीप माथुर तथा हैड प्रोजेक्टस एंड कोआर्डीनेशन सोनल महाजन ने हस्ताक्षर करते हुए सीमावर्ती क्षेत्र में उच्च स्तरीय शिक्षा विद्यार्थियों को मुहैया करवाने पर जोर दिया है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!