जागरण संवाददाता, फिरोजपुर : डीसी फिरोजपुर कुलवंत सिंह द्वारा सिर्फ एक फोन कॉल पर एक गर्भवती महिला को डिलीवरी के लिए क‌र्फ्यू के बीच बठिडा ले जाने को लेकर जारी की गई अनुमति फिरोजपुर के सरां परिवार के लिए वरदान साबित हुई। गर्भवती महिला ने रविवार को एक लड़के को जन्म दिया और जच्चा-बच्चा दोनों पूरी तरह से सुरक्षित हैं। परिवार ने यह खुशी सबसे पहले डीसी कुलवंत सिंह से साझा की और उन्हें बच्चे की तस्वीर भी वाट्सएप पर भेजी। डीसी ने भी जवाब में बच्चे के लिए अपना आशीर्वाद और शुभकामनाएं भेजी।

धवन कॉलोनी के रहने वाले कुलदीप सिंह सरां ने बताया कि उनकी पत्नी मनप्रीत कौर गर्भवती थी और उसका इलाज बठिडा के कपिला अस्पताल से चल रहा था। 27 मार्च को उन्हें अपनी पत्नी मनप्रीत कौर को अस्पताल ले जाने की जरूरत पड़ी लेकिन क‌र्फ्यू की वजह से वह निकल नहीं पा रहे थे। पास बनवाने के लिए समय नहीं था और वक्त भी निकल चुका था। इसलिए उन्होंने डीसी कुलवंत सिंह को फोन करके सारी बात बताई।

कुछ ही देर बाद ही डीसी कार्यालय द्वारा उन्हें वाट्सएप पर परमिशन लैटर दी गई।

उन्होंने बताया कि परमिशन लैटर मिलते ही वह तत्काल अपनी पत्नी को लेकर बठिडा के लिए रवाना हुए, जहां 28 मार्च को उसका इलाज शुरू हुआ। 29 मार्च को उनकी पत्नी ने एक लड़के को जन्म दिया और दोनों जच्चा-बच्चा पूरी तरह से सुरक्षित हैं। कुलदीप सिंह ने बताया कि डीसी के आभारी हैं, जिन्होंने इतने कम समय पर उन्हें परमिशन लैटर जारी करवाया।

डीसी कुलवंत सिंह ने कहा कि क‌र्फ्यू के दौरान लोगों की सहायता के लिए पंजाब सरकार पूरी तरह से वचनबद्ध है और जिला प्रशासन द्वारा इन गंभीर परिस्थितियों में लोगों तक मदद पहुंचाने में कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी। उन्होंने कहा कि लोग किसी भी तरह की मुश्किल को लेकर जिला प्रशासन द्वारा हेल्पलाइन नंबरों पर संपर्क कर सकते हैं और उन्हें तुरंत राहत प्रदान की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!