संवाद सहयोगी, फिरोजपुर : कंप्यूटर फैकल्टी एसोसिएशन पंजाब के पदाधिकारियों की बैठक जिला प्रधान फिरोजपुर जतिदर सोढी की अध्यक्षता में हुई, जिसमें सोढी ने बताया कि 27 जून को शिक्षा मंत्री के विधानसभा हलके के 12 गांवों में रोष मार्च किया था, तब संगरूर प्रशासन ने कंप्यूटर फैकल्टी एसोसिएशन के नेताओं को 15 जुलाई तक शिक्षा मंत्री के साथ पैनल मीटिग कराने का लिखित पत्र देकर भरोसा दिलाया था, लेकिन अभी तक एसोसिएशन के नेताओं को मीटिग का कोई न्योता नहीं आया।

उन्होंने कहा कि कंप्यूटर फैकल्टी एसोसिएशन के नेताओं की तरफ से आनलाईन मीटिग की गई थी, जिसमें यह फैसला किया गया कि आने वाले दिनों में शिक्षा मंत्री का गुप्त एक्शन करके घेराव किया जाएगा और 18 जुलाई को साझा अध्यापक मोर्चा पंजाब की तरफ से किए जाने वाले रोष प्रदर्शन में वह बढ़-चढ़कर हिस्सा लेंगे। इस दौरान एसोसिएशन के नेता लखविदर सिंह सिमक ने बताया कि फरवरी 2020 को एसोसिएशन की एक पैनल मीटिग शिक्षा मंत्री पंजाब, शिक्षा सचिव पंजाब, डीपीआइ (सीसे) और डीजीएसई पंजाब के साथ हुई थी, जिसमें शिक्षा मंत्री और शिक्षा अधिकारियों ने कंप्यूटर अध्यापकों की मांगों को जायज बताते हुए मांगों को एक महीने में पूरा करने का भरोसा दिया था, परंतु लगभग एक साल से अधिक समय बीत जाने पर भी उनकी मांगों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है, जिसके चलते कंप्यूटर अध्यापकों को मजबूर होकर संघर्ष का रास्ता अपना पड़ रहा है। इस मौके पर एसोसिएशन के सदस्य गुरबख्श सिंह, गुरविदर सिंह, मिटू थोमस, विकास छाबड़ा, मनीश मुद्दकी, विशु डूमरा, मोहन लाल, अमित, सचिन, रमित, कमलप्रीत सिंह, सुरिदर सिंह, सुखजिदर कौर, कुलविदर कौर, पूनम, सैलजा बाहरी, रजनी बाला, मोनिका बावा, सर्बजीत कौर, वंदना, अमनदीप कौर, मनदीप कौर, ज्योति, कविता, कंचन शर्मा और ओर मैंबर उपस्थित थे।

Edited By: Jagran