नरेश कामरा, फाजिल्का

रेल विभाग की ओर से 276 करोड़ रुपये खर्च कर बिछाई गई फाजिल्का-अबोहर रेल लाइन पर कागजों में जुलाई 2011 से शुरू की गई रेलगाड़ी भले ही अभी तक फाजिल्का नहीं पहुंची है। लेकिन फाजिल्का के राज मिस्त्रियों की ओर से मानव श्रृंखला जोड़कर बनाई गई रेलगाड़ी सोमवार सुबह 10 बजे फाजिल्का रेलवे स्टेशन पहुंच गई।

सांझा मोर्चा की ओर से गाड़ी शुरू करने की मांग को लेकर चलाई जा रही भूख हड़ताल के 32वें दिन न्यू विश्वकर्मा कारपेंटर सोसायटी आल ट्रेडर्स यूनियन व गुरु गोबिंद सिंह यूथ क्लब की ओर से बनाई गई 'गाड़ी संख्या 420' सोमवार सुबह विश्वकर्मा मंदिर से चलकर शहर के विभिन्न बाजारों से होती हुई भूख हड़ताल स्थल पर पहुंचकर रुकी। गाड़ी के रूप में मानव श्रृंखला बना चल रहे सैकड़ों मिस्त्री व मजदूर रेलवे विभाग के खिलाफ नारे लगाते हुए विभिन्न बाजारों से गुजरे।

32वें दिन यूनियन प्रधान नत्थू राम व भगवान दास के नेतृत्व में शाम लाल, सुभाष चंद्र, फूल चंद, राज कुमार, रामेश्वर लाल, बूटा राम, कालीचरण, स्वर्ण सिंह, राकेश कुमार, रंधीर सिंह, उदय सिंह आदि भूख हड़ताल पर बैठे। प्रधान नत्थू राम ने कहा कि नकली गाड़ी बनाकर व उसे गाड़ी संख्या 420 का नाम देकर इलाकावासियों ने रोष जताया है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर