जागरण संवाददाता, फाजिल्का

पंजाब की विशेषता यहां की अमीर संस्कृति है। इसे यहां के लोग व शैक्षणिक संगठन बेहतर ढंग से विकसित कर रहे हैं। यह शब्द ब्रिगेडियर अरुल डेनिस ने गीता इंस्टीट्यूट आफ मैनेजमेंट एंड टेक्नोलोजी की ओर से राम पैलेस में आयोजित वार्षिकोत्सव एवं लोहड़ी पर्व पर आयोजित जश्न-2012 में बतौर मुख्यातिथि के रूप में हिस्सा लेते कहे।

कार्यक्रम की शुरूआत ब्रिगेडियर डेनिस व उनकी पत्‍‌नी शांति डेनिस और इंस्टीट्यूट के स्टाफ ने दीप प्रज्ज्वलित कर की। कार्यक्रम के दौरान विद्यार्थियों ने भंगड़ा, गिद्दा, देशभक्ति पर शहीद भगत सिंह की जीवनी पर आधारित कोरियोग्राफी प्रस्तुत कर खूब वाहवाही लूटी। उपस्थिति को शिक्षाविद् राजकिशोर कालड़ा, टेक चंद धूड़िया, लेक्चरर विजय मोंगा, शक्ति उतरेजा, पंकज धमीजा ने भी संबोधित किया। इंस्टीट्यूट के निदेशक डा. विनोद कुमार ने उपस्थिति का आभार प्रकट किया। इस दौरान सिक्किम मणिपाल यूनिवर्सिटी के घोषित एमबीए की परीक्षा में अव्वल मेजर शलभ चौधरी, संदीप बठला, रोहित सिडाना व राघव बिहाणी को भी सम्मानित किया गया। डा. विनोद कुमार व स्टाफ ने मुख्यातिथि ब्रिगेडियर डेनिस, विशिष्ट अतिथि कर्नल आशुतोष बहुगुणा, मेजर शलभ चौधरी, डीसीजी (बीएसएफ) सुखदेव, टेक चंद धूड़िया, विक्टर छाबड़ा, राजकिशोर कालड़ा, प्रिंसिपल दयानंद, कैप्टन गौरव राठी, विजय मोंगा, संदीप बठला व अन्य मेहमानों को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर