संवाद सूत्र, जलालाबाद : ग्रामीण जल घरों में सेवाएं देने वाले कर्मचारियों ने रेगुलर करने की मांग को लेकर जलालाबाद में सीएम कैप्टन अमरिदर सिंह के आगमन पर शहीद ऊधम सिंह चौक के निकट धरना दिया। जल सप्लाई एवं सेनिटेशन कांट्रैक्टर वर्कर यूनियन के सदस्यों पंजाब सरकार के खिलाफ गांव बघ्घेके, आलमके, प्रभात सिंह वाला, ढंडी पुराना, ढंडी खुर्द, कानेवाला आदि गांवों में रैली की गई, जो शहीद ऊधम सिंह चौक पर आकर समाप्त हुई। जहां कैप्टन अमरिदर सिंह का कार्यक्रम था।

प्रांतीय उपप्रधान संदीप खान ने कहा कि जल सप्लाई व सेनिटेशन विभाग में इनलिस्टमैंट पालसी, ठेकेदारों के जरिए आउट सोर्सिंग, सोसायटियों आदि के जरिए पिछले 10-12 सालों से सेवाएं दे रहे कर्मचारियों को विभाग में शामिल कर रेगुलर करने और अन्य जायज मांगों के हल करने के लिए पंजाब सरकार हर बार टाल मटोल वाली नीति अपना रही है। वहीं अब ग्रामीण जल सप्लाई स्कीमों का पंचायतीकरन करने के नाम पर निजीकरण करने की कोशिशें की जा रही है। यूनियन ने कहा कि पंजाब सरकार की उक्त नीतियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा। चाहे संघर्ष को ओर तीखा क्यों न करना पड़े। उधर इसकी सूचना मिलते ही पुलिस ने कर्मचारियों को वहां से हटाने का प्रयास किया। जिसके बाद मुख्यमंत्री के निजी सचिव मौके पर पहुंचे और उन्होंने एक हफ्ते मे मुख्यमंत्री के साथ पैनल बैठक करवाने का लिखित तौर पर भरोसा दिया, जिसके बाद धरने को समाप्त कर दिया गया है। इस मौके पर प्रांतीय प्रेस सचिव सतनाम सिंह, सर्किल प्रधान बलकार सिंह, जिला प्रधान जसविंदर सिंह, ब्रांच प्रधान गुरमीत सिंह, जिला महासचिव राकेश सिंह, सुखचैन सिंह सोढी, रणजीत सिंह खालसा आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!