संवाद सूत्र, फाजिल्का :

जिले में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं, जिसको देखते हुए जिला प्रशासन ने आदेश जारी किए हैं कि वैक्सीन की दोनों डोज न लगवाने वाले लोगों को सरकारी कार्यालयों में सेवाएं नहीं दी जाएंगी।

डिप्टी कमिश्नर बबीता कलेर ने बताया कि बैंकों को लिखा जा रहा है कि वह कोविड की वैक्सीन न लगवाने वालों को बैंकों में न आने दें और इसके अलावा सरकारी और प्राइवेट संस्थानों में भी सेवाएं लेने के लिए वैक्सीन लगवाना जरूरी किया जा सकता है। इसलिए उन्होंने लोगों से अपील की कि जिस किसी को भी वैक्सीन नहीं लगी वह तुंरत पहली डोज लगवाए, जिसके पहली डोज लग चुकी है, वह मेडिकल विशेषज्ञों द्वारा दूसरी डोज के दिए गए समय पर अपनी दूसरी डोज लगवाए, जिससे आने वाले दिनों में की जाने वाली सख्ती के दौरान लोगों को कोई मुश्किल न झेलनी पड़े। डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि कोविड पाबंदियों में इस शर्त पर छूट दी गई थी कि निजी संस्थानों जैसे दुकानों आदि पर भी सेवा अर्थात दुकानदार आदि वैक्सीन की दोनों डोज लगवा कर ही दुकानें खोलेंगे।

उन्होंने कहा कि जिले के सभी सरकारी अस्पतालों में कोविड की वैक्सीन उपलब्ध है और हर रोज लगाई जाती है। इसलिए जिला निवासी बिना देरी कोविड की वैक्सीन लगवाएं। डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि सार्वजनिक स्थानों पर मास्क न पहनने वालों खिलाफ भी आपदा प्रबंधन कानून की धाराओं अनुसार कार्यवाही की जाएगी। इसलिए सार्वजनिक स्थानों पर मास्क जरूरी तौर पर पहना जाए। उड़न दस्ते करेंगे प्राइवेट संस्थानों पर जांच

डीसी बबीता कलेर ने कहा कि उड़ान दस्ते बनाकर प्राइवेट संस्थानों में भी जांच की जाएगी और जिन दुकानदारों ने कोविड की दोनों डोज न लगवाई हुई। उनके संस्थान को बंद किया जाएगा।

Edited By: Jagran