जागरण संवाददाता, फाजिल्का

अंतरराष्ट्रीय दिव्यांग दिवस को समर्पित सामाजिक सुरक्षा और स्त्री एवं बाल विकास विभाग पंजाब द्वारा राज्य स्तरीय समागम का आयोजन फाजिल्का के सिटी गार्डन पैलेस में किया गया। समारोह के मुख्य अतिथि पंजाब के सेहत एवं परिवार कल्याण मंत्री सुरजीत ज्याणी थे। विशिष्ट अतिथि के रूप में सामाजिक सुरक्षा और स्त्री एवं बाल विकास विभाग पंजाब के डायरेक्टर सुखविन्दर ¨सह, डीसी ईशा कालिया, एडीसी विकास अरविन्द कुमार शामिल हुए।

मंत्री ज्याणी ने कहा कि पंजाब सरकार दिव्यांग बच्चों और व्यक्तियों की भलाई के लिए वचनबद्ध है। दिव्यांगों की भलाई के लिए चलाई जा रही भलाई स्कीमों और पंजाब सरकार द्वारा 64 करोड़ रुपये की राशि खर्च की गई है। सरकार द्वारा दिव्यांग व्यक्तियों की पेंशन स्कीम की राशि बढ़ाकर 500 रुपये महीना की गई है। दिव्यांग विद्यार्थियों की शिक्षा के लिए भी विशेष प्रयास किए जा रहे हैं जिससे वह पढ़ लिखकर अपने पैरों पर आप खड़े हो सकें। सरकार की तरफ से दिव्यांग लोगों के डिसएबिलटी सार्टिफिकेट सरकारी अस्पतालों में मुफ्त बनाकर दिए जा रहे हैं। सरकारी नौकरियों में कोटे के हिसाब के साथ बैकलॉग पूरा किया गया है। वहीं विभाग के डायरेक्टर सुखविन्दर ¨सह ने कहा कि विभाग की तरफ से दिव्यांग व्यक्तियों वाले एक्ट 1995 भारत सरकार द्वारा इस वर्ग की भलाई के लिए नोटिफाई किया गया है, जोकि पंजाब राज में 1996 से लागू है। दिव्यांग व्यक्तियों को नौकरियों, तरक्कियों में 3 प्रतिशत आरक्षण देने की व्यवस्था की गई है। मंदबुद्धि बच्चों के लिए कपूरथला में 6 से 16 साल के मन्दबुद्धि बच्चों के लिए एक होम की स्थापना की गई है।

डीसी ईशा कालिया ने कहा कि दिव्यांग लोग भी हमारे समाज का एक हिस्सा हैं। इनके अंदर भी मानवीय समाज के लिए वह सारा कुछ करने की योग्यता है जो आम इंसानों में होती है। समारोह में दिव्यांगों की भलाई के लिए काम करने वाले छह लोगों को सम्मानित किया गया। जरूरतमन्द दिव्यांगों में ट्राई साइकिल भी वितरित की गई। प्रयास स्कूल के दिव्यांग विद्यार्थियों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम भी पेश किया। साथ ही नेशनल स्तर उड़ान फेस्टिवल में विजेता रहने वाली रेखा रानी की नृत्य प्रस्तुति को सभी ने सराहा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!