राज नरूला, अबोहर : कांग्रेस ने अबोहर विधानसभा क्षेत्र से संदीप जाखड़ को उम्मीदवार घोषित कर दिया है। वैसे तो संदीप जाखड़ को राजनीति विरासत में मिली है, लेकिन उनका राजनीति में पहला कदम है। उनके दादा स्व. बलराम जाखड़ लोकसभा व केंद्रीय कृषि मंत्री रह चुके हैं, जबकि उनके चाचा सुनील जाखड़ अबोहर से तीन बार विधायक रहे व पंजाब कांग्रेस के प्रधान भी रहे हैं। पंजाब कांग्रेस का प्रधान बनने के बाद सुनील जाखड़ ने अबोहर की जिम्मेवारी संदीप जाखड़ को सौंप दी, जिसके बाद से करीब पांच साल से अबोहर का कार्य व जिम्मेवारी संदीप जाखड़ ही संभाल रहे हैं।

संदीप जाखड़ पिछले करीब चार साल से अपनी सियासी जमीन तैयार करने में लगे हुए हैं। शहर का नाम गंदे शहरों की सूची में आया तो उन्होंने अपना अबोहर अपनी आभा टीम गठित की, जिसके तहत प्रत्येक शनिवार को वह खुद शहर में सफाई अभियान चला रहे हैं। पिछले लंबे समय से कांग्रेस उम्मीदवार के रूप में उनका नाम ही तय माना जा रहा था क्योंकि यहां से कोई और टिकट का दावेदार ही नहीं था। सुनील जाखड़ के नाम भी चर्चा बीच में बीच में होती रहती थी। पिछली बार विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के सुनील जाखड़ उम्मीदवार थे, जिन्हें भाजपा के अरुण नारंग ने पराजित कर दिया था।

----

मजबूत पक्ष

संदीप जाखड़ के परिवार में चुनाव लड़ने का काफी लंबा तुजुर्बा है। वह पिछले लंबे समय से जमीनी स्तर पर जुड़ कर काम कर रहे है। उनके पास 49 पार्षद हैं जिसका फायदा उन्हें मिलेगा। कमजोर कड़ी

सत्तापक्ष पार्टी से संबंधित होने के कारण कुछ एंटी पार्टी फैक्टर का नुकसान उठाना पड़ सकता है। कांग्रेस द्वारा पिछली बार जो वादे किए गए थे उनमें से कई वायदे पूरे न होने के कारण उसका नुकसान हो सकता है।

युवा कांग्रेस के अध्यक्ष हैं संदीप जाखड़

संदीप जाखड़ का जन्म 1976 में किसान परिवार में हुआ। उन्होंने अपनी पढ़ाई मेयो कालेज अजमेर से की व उसके बाद स्नातक की पढ़ाई पूरी करने के लिए फ्लोरिडा इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी मियामी (अमेरिका) चले गए। उन्होंने 10 साल तक फ्लोरिडा में काम किया। उसके बाद यहां आकर अपने दादा व चाचा के नक्शेकदम पर चलते हुए राजनीति में प्रवेश किया। संदीप जाखड़ जिला फिरोजपुर के युवा कांग्रेस युवा के अध्यक्ष भी रहे। दिलचस्प होता जा रहा मुकाबला नारंग हो सकते हैं भाजपा के उम्मीदवार

बेशक भाजपा ने अभी तक अपने उम्मीदवार की घोषणा नहीं की है, लेकिन भाजपा की तरफ विधायक अरुण नारंग को ही दोबारा मैदान में उतारा जा सकता है, जिसके बाद से यहां मुकाबला कड़ा होने की संभावना बनती जा रही है। शिअद के डा. रिणवा दे सकते हैं कड़ी टक्कर

शिअद ने यहां से पूर्व विधायक डा. महिद्र रिणवा को अपना उम्मीदवार बनाया है, जो पिछले लंबे समय से लोगों से राबता कायम कर रहे हैं। वह कांग्रेस छोड़कर शिअद में शामिल हुए थे। आप ने दीप कंबोज को बनाया उम्मीदवार, किसान समाज मोर्चा भी उतारेगा उम्मीदवार

आम आदमी पार्टी से दीप कंबोज को उम्मीदवार बनाया है। दीप कंबोज युवा है व एक साधारण परिवार से संबंधित है। उन्हें पार्टी के नाम का फायदा मिल सकता है। इसके अलावा यहां किसान समाज मोर्चा भी अपना उम्मीदवार उतारेगा।

Edited By: Jagran