संवाद सहयोगी, फाजिल्का : लुधियाना के विधायक सिमरजीत सिंह बैंस को विधानसभा से सस्पेंड करने की मांग व उनके विरुद्ध कानूनी कार्यवाही करने और एसडीएम जीरा को बंदी बनाकर दरिया में फेंकने की कोशिश करने वालों को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर बुधवार को तीसरे दिन भी डीसी कार्यालय के कर्मचारी कलम छोड़ हड़ताल पर रहे। जिस कारण लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा। दोपहर के समय कुछ लोगों को निराश होकर वापिस लौटते हुए देखा गया।

यूनियन के जिला प्रधान दविन्दर कलेर, जिला प्रैस सचिव अंकुर शर्मा ने बताया कि विधायक सिमरजीत सिंह बैंस सूर्खियों में रहने के लिए सरकारी कर्मचारियों को तंग और परेशान करते चले आ रहे हैं। इस बार तो उन्होंने हद ही कर दी। उन्होंने बताया कि डिप्टी कमिश्नर जिले के प्रमुख हैं, इनके साथ विधायक द्वारा की गई गलत शब्दावली किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जायेगी। इसको लेकर यूनियन में काफी रोष पाया जा रहा है। यूनियन ने मांग की कि विधायक बैंस की विधान सभा की मैंबरशिप खत्म की जाए और उनके विरुद्ध बनती कार्यवाही अमल में लाई जाये। इस मौके यूनियन अधिकारियों ने कहा कि यदि उनकी मांग पूरी न की गई तो संघर्ष ओर भी तेज किया जायेगा। इस मौके यूनियन के प्रांतीय उप प्रधान जगजीत सिंह, महासचिव फरीक चंद, मनजीत सिंह सुपरीडेंट (माल), हरदीप कौर सुपरीडेंट, प्रदीप गखड़ सुपरिटेंडेंट, कानूगो रवीन्द्र नाथ, राम कृष्ण, राम चंद, सतनाम सिंह, हरभजन सिंह, गनेश शर्मा, नेहा रानी, अंजू बाला, मालती ग्रोवर, रजनी बाला, चेतना, मनीला, श्वेता, मनप्रीत कौर व अन्य उपस्थित थे।

एसडीएम, तहसीलदार व नायब तहसीलदार भी हड़ताल पर

इस हड़ताल में डीसी कार्यालय, उप मंडल मैजिस्ट्रेट, तहसीलदार कार्यालय, सब तहसीलों के कर्मचारियों के साथ-साथ कानूगो एसोसिएशन ने भी हिस्सा लिया। इसके अलावा जिले के एसडीएम, तहसीलदार व नायब तहसीलदार भी हड़ताल पर रहे। जिस कारण एसडीएम, तहसीलदार व नायब तहसीलदार की अदालत में अपने अपने केसों के लिए आए लोगों को परेशान होकर वापिस लौटना पड़ा।

यह कार्य हो रहे प्रभावित

डीसी कर्मचरियों की हड़ताल के चलते रजिस्ट्रियों का कार्य अधिक प्रभावित हो रहा है। पिछले तीन दिनों से हड़ताल के चलते लगभग 80 के करीब रजिस्ट्रियां नहीं हो पाई। इसके अलावा 100 के करीब सर्टिफिकेट, लाईसेंस के अलावा अन्य कार्य पूरी तरह से प्रभावित हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!