संस अबोहर : कोरोना की दूसरी लहर में आक्सीजन की बड़ी मांग को देखते हुए सरकारी अस्पताल अबोहर में आक्सीजन प्लांट लगाया गया है, जिससे अब 150 बिस्तरों वाले सरकारी अस्पताल में आक्सीजन को लेकर परेशानी नहीं होगी। अत्याधुनिक तरीके से तैयार किया गया है यह प्लांट हवा से आक्सीजन तैयार करेगा। एक दो दिन में इस प्लांट का विधिवत उद्घाटन कर इसको शुरू कर दिया जाएगा।

क्लीन मैक्स कंपनी के मैनेजर भूपेन्द्र जांदू ने बताया कि यह प्लांट मुंबई की कंपनी क्लीन मैक्स एनवायरों पाल्यूशु प्राइवेट लिमिटेड (ग्रीन एनर्जी) द्वारा लगवाया गया है। यह प्लांट एक मिनट में 250 लीटर आक्सीजन तैयार करने की क्षमता रखता है। यानी एक घंटे में 15000 लीटर आक्सीजन तैयार करेगा। इस पूरे प्लांट पर करीब 30 से 35 लाख रुपए का खर्च हुआ है। इसके साथ 2000 लीटर वाली कैपीसिटी का टैंक भी लगा हुआ।

सरकारी अस्पताल के स्टोर इंचार्ज सीनियर फार्मासिस्ट चंद्रभान ने बताया कि रुटीन में औसतन 25 से 30 छोटे आक्सीजन सिलेंडर व पांच से सात बड़े आक्सीजन सिलेंडर की जरूरत अस्पताल को पड़ती है। सरकारी अस्पताल में आक्सीजन प्रत्येक बेड व प्रत्येक वार्ड तक आक्सीजन पहुंचाने के लिए पहले से ही पाइपलाइन बिछाई जा चुकी है। सरकारी अस्पताल के एसएमओ डा. गगनदीप सिंह ने कि प्लांट लगने से सरकारी अस्पताल की आक्सीजन संबंधी कमी दूर हो जाएगी। सरकारी अस्पताल में सभी सुविधाएं जरूरी

नर सेवा नारायण सेवा समिति के प्रधान राजू चराया ने कहा कि सरकारी अस्पताल में सभी तरह की सुविधाएं होना जरूरी है व अस्पताल प्रशासन को भी इस तरह के प्रबंध करने चाहिए कि लोग सरकारी अस्पताल में अपना इलाज करवाने के लिए बिना डर के आए। वहीं गगन मल्होत्रा ने कहा कि सरकार जब कोई मुश्किल आती है उसके बाद ही कदम उठाती हैं।

Edited By: Jagran