संस, अबोहर: सुनील जाखड़ के कांग्रेस छोड़ने के बाद उनके समर्थकों ने भी कांग्रेस को अलविदा कहना शुरू कर दिया है। सबसे पहले हलका बल्लुआना के दिग्गज कांग्रेसी नेता व पूर्व प्रधान सरपंच यूनियन सुशील सियाग ने भी कांग्रेस को अलविदा कह दिया। उन्होंने अपने घर पर दशकों से लगाया कांग्रेस का झंडा उतार दिया।

सुशील सियाग ने कहा कि कहा अनुभवहीन कांग्रेस हाईकमान होने के कारण दिग्गज कांग्रेस नेता सुनील जाखड़ को पचास वर्ष पुराना कांग्रेस पार्टी से नाता तोड़ने को मजबूर होना पड़ा। वहीं जाखड़ के समर्थक मदन लाल भालोटिया, यूथ कांग्रेस प्रधान अतिदरपाल तिन्ना, हरबिदर बेदी समेत अनेक समर्थकों ने कहा है कि वह जाखड़ साहिब के साथ थे व उन्हीं के साथ ही रहेंगे, जबकि कुछ कांग्रेस व जाखड़ समर्थकों को इस बात का इंतजार है कि अबोहर से विधायक संदीप जाखड़ अभी क्या फैसला लेते है। उसके बाद ही वह भी अपना फैसला लेंगे हालांकि उनका कहना है कि वह जाखड़ साहिब के साथ ही रहे हैं न कि कांग्रेस के साथ।

भाजपाइयों ने किया सुनील जाखड़ का स्वागत

सुनील जाखड़ के भाजपा में शामिल होने पर पूर्व जिलाध्यक्ष बृजमोहन शर्मा ने उनका स्वागत किया है। शर्मा ने जाखड़ को भाजपा में शामिल होने पर बधाई दी और कहा कि हमारे जाखड़ के साथ कोई निजी मतभेद नही हैं। कांग्रेस में होते समय हमारी विचारधारा में अंतर था, लेकिन अब वह भारतीय जनता पार्टी की विचारधारा को अपनाते हुए पार्टी में शामिल हुए हैं। जिसके चलते वह उनका स्वागत करते हैं। उन्होंने कहा कि दिग्गज नेता होने के साथ-साथ साफ छवि के सुनील जाखड का राजनीति में बहुत ऊंचा कद है। उनके भाजपा में आने से पार्टी को ओर मजबूती मिलेगी। इसके अलावा भाजपा नेता स्टीनू जैन व एडवोकेट रमेश जैन ने जाखड़ का भाजपा में शामिल होने पर स्वागत किया है। कांग्रेस ने अपनी नासमझी से एक अनमोल हीरे को खोया: संदीप जाखड़

सुनील जाखड़ के भतीजे विधायक संदीप जाखड़ ने कहा कि कांग्रेस हाईकमान ने सुनील जाखड़ की बात को नहीं सुना व नासमझ से एक अनमोल हीेरे को खो दिया। उन्होंने कांग्रेस छोड़ने के सवाल पर किसी तरह की टिपणी करने से इंकार कर दिया। जाखड़ ने कभी स्वार्थ की राजनीति नहीं की: सांगवाल संस, अबोहर: तीन बार विधायक रह चुके सुनील कुमार जाखड़ का भाजपा में शामिल होने पर हलका बल्लूआना की भाजपा नेत्री वंदना सांगवाल ने स्वागत करते हुए कहा कि इससे पंजाब में पार्टी की दिशा और दशा में भारी परिवर्तन होगा।

वंदना सांगवाल ने कहा है जाखड़ एक मंझे हुए राजनीतिज्ञ है। इनसे हमारे कार्याकर्ताओं को बहुत कुछ सीखने को मिलेगा। जाखड़ ने कभी भी स्वार्थ की राजनीति नहीं क,ी लेकिन कांग्रेस ने कभी भी जाखड़ को उनके कद के योग्य पद नहीं दिया। उन्होंने पार्टी के शीर्ष नेताओं का आभार व्यक्त किया है, जिन्होंने जाखड़ जैसे कद्दावर नेता को भाजपा में शामिल किया है। उन्होंने कहा कि पार्टी के इस फैसले से पंजाब ही नहीं बल्कि पड़ोसी राज्य राजस्थान और हरियाणा की राजनीति में भी काफी बदलाव आएगा। नगर व यूथ कांग्रेस प्रधान ने दिया त्यागपत्र संस, अबोहर : सुनील जाखड़ के कांग्रेस छोड़ने के बाद उनके समर्थकों व कांग्रेस पदाधिकारियों ने भी त्याग पत्र देने शुरू कर दिए है।

अबोहर कांग्रेस प्रधान मोहन लाल ठठई की ओर से अपने पद से त्याग पत्र दे दिया है, जबकि यूथ कांग्रेस के प्रधान अतिदरपाल सिंह तिन्ना ने भी कांग्रेस को अलविदा कहते हुए अपने पद से त्याग पत्र दे दिया है। इतना ही नहीं कांग्रेस के देहाती प्रधान सुनील सेवटा ने भी कांग्रेस छोड़ने की घोषणा करते हुए अपने पद से त्याग पत्र दे दिया है। उनका कहना है कि वह जाखड़ साहब के साथ थे व उनके साथ ही रहेंगे।

Edited By: Jagran