मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, अबोहर: वीरवार को बठिडा स्टेशन पर नान इंटरलाकिग के चलते करीब 12 ट्रेने रद की गई हैं। वहीं दूसरी ओर श्रीगंगानगर रेलवे स्टेशन के टिकट घर पर कर्मचारियों ने लापरवाही बरतते हुए कई यात्रियों को बठिडा सहित इस रेल ट्रेक पर आने वाले अन्य शहरों की टिकटें काट दी गई। इसके चलते उक्त यात्रियों को अबोहर स्टेशन पर ही उतरने को मजबूर होना पड़ा। इस बात को लेकर यात्रियों में रेलवे अधिकारियों के खिलाफ भारी रोष पाया गया। वहीं स्टेशन पर मौजूद यात्रियों ने यहां के रेलवे अधिकारियों पर भी उनकी किसी प्रकार की सुनवाई न करने के आरोप लगाए हैं। उन्होंने इसकी आनलाइन शिकायत रेलवे विभाग को दर्ज करवाते हुए लापरवाही बरतने वाले कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। यात्री बलवंत सिंह, सोमावती प्रकाश कौर, दीवारी लाल, तिलकराज व अन्य लोगों ने बताया कि अनेकों यात्रियों ने श्रीगंगानगर रेलवे स्टेशन से मलोट, बठिंडा, गिदड़बाहा, व अन्य शहरों के लिए अपनी टिकटें कटवाई और वहां के रेलवे कर्मचारियों ने उन्हें रेलगाड़ियां रद होने की सूचना दिए बगैर टिकटें काटकर दे दी। इस कारण वे सुबह की गाड़ी से जब अपने गंतव्य के लिए रवाना हुए तो गाड़ी अबोहर स्टेशन पर आकर ठहर गई।

अधिकतर यात्री बुजुर्ग व मरीज थे

कर्मचारियों ने यात्रियों को बताया कि बठिडा में रेल लाइनों पर काम चलने के कारण यह गाड़ी आगे नहीं जाएगी, जिससे गाड़ी में मौजूद सभी सवारियों में भारी रोष पाया गया। उन्होंने बताया कि अधिकतर यात्रियों में बुजुर्ग, मरीज व विद्यार्थी वर्ग शामिल था, जिनमें इस बात को लेकर भारी रोष था कि अगर यह गाड़ी आगे जानी ही नहीं थी तो वहां के रेल कर्मचारियों ने उन्हें टिकटें क्यों थमा दी

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!