संवाद सहयोगी, फाजिल्का : प्रांत सरकार की तरफ से शुरू की गई तंदरुस्त मुहिम के अंतर्गत सेहत विभाग की टीम की तरफ से डिप्टी कमिश्नर मनप्रीत ¨सह के दिशानिर्देशों अनुसार अबोहर की एनजी तेल मिल की चेकिंग की गई। इस दौरान सरसों और खाद तेल के 6 सैंपल लिए गए और 1077 लीटर तेल सील किया गया। सैंपलों को आगे की जांच के लिए सरकारी लैबोरेटरी खरड़ में भेजा जा रहा है।

सिविल सर्जन डा. हंसराज ने बताया कि सेहत विभाग की तरफ से मिलावट खोरों को नकेल डालने और आम लोगों को खाने-पीने के लिए शुद्ध वस्तुएं मुहैया करवाने के लिए सरकार की तरफ से शुरू की गई मुहिम के तहत अबोहर बाइपास में स्थित एनजी तेल मिल पर छापा मारकर तेल पदार्थों की जांच पड़ताल की गई। इस दौरान 725 लीटर सरसों का तेल और 352 लीटर खाद तेल शक के घेरे में पाया गया। जिसको टीम की तरफ से सील कर दिया गया। इसके अलावा 2 सैंपल सरसों के तेल के और 4 सैंपल खाद के तेल के भरे गए। उन्होंने बताया कि जितनी देर रिपोर्ट नहीं आती, उतनी देर मिल के मालिक को सील किए गए तेल को बेचने पर पाबंदी कर दी गई है। रिपोर्ट मिलने के उपरांत विभाग की तरफ से अपेक्षित कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। इस मौके सहायक कमिश्नर फूड कंवलप्रीत ¨सह, फूड सेफ्टी अफसर गगनदीप कौर व अन्य उपस्थित थे।

Posted By: Jagran