संवाद सहयोगी, फाजिल्का : जिला परिषद चुनाव में जोन-8 बेगांवाली में कांग्रेस की टिकट को लेकर पूर्व विधायक व मौजूदा विधायक के बीच चली खींचतान मंगलवार को मौजूदा विधायक की ओर से उतारे उम्मीदवार विक्रम कासवां के नामांकन पत्र वापस लेने के साथ समाप्त हो गई। इससे विधायक घुबाया के समर्थक खुश नहीं हैं।

फाजिल्का के जोन-8 बेगांवाली से पहले कांग्रेस पार्टी हाईकमान ने विधायक द¨वद ¨सह घुबाया के समर्थक विक्रम कासवां को टिकट दी थी। लेकिन बाद में सोशल मीडिया पर एक पत्र वायरल हुआ, जिसके बाद पता चला कि पार्टी हाईकमान ने विक्रम कासवां की जगह पूर्व विधायक डॉ. म¨हद्र कुमार रिणवा के बेटे सिद्धार्थ रिणवा को टिकट दे दी है। इसके बाद घुबाया के समर्थकों में रोष पनप गया। बीते रविवार को अन्य ब्लॉक से लड़ रहे प्रत्याशी कौशल बूक व ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष सु¨रद्र कालड़ा ने बैठक बुलाई और चेतावनी दी कि अगर मौजूदा विधायक घुबाया के समर्थक विक्रम कासवां को टिकट नहीं दी गई तो वह विधायक के आदेशों पर सख्त एक्शन लेंगे। मंगलवार को विधायक घुबाया के समर्थक विक्रम कासवां ने पहले पूर्व विधायक डॉ. म¨हद्र रिणवा के साथ बैठक की और बाद में डीसी कार्यालय में पहुंचकर नामांकन वापस ले लिया। उनके साथ प्रत्याशी सिद्धार्थ रिणावा, पंजाब प्रधान सुनील जाखड़ का भतीजा संदीप जाखड़ भी उपस्थित रहे।

------------------

विधायक दविंदर घुबाया ने कहा कि इस बारे में चंडीगढ़ में हाईकमान के साथ हुई बैठक में यह फैसला लिया गया था। इसी फैसले के अनुसार सहमति जताते हुए नामांकन वापस लिया गया है।

Posted By: Jagran