संवाद सूत्र, फाजिल्का : नववर्ष पर विभिन्न स्थानों पर जाने वाले लोगों के लिए राहत की खबर है। किसान मजदूर मोर्चा द्वारा 22 दिसंबर से अपनी मांगों को लेकर दिया जा रहा धरना मंगलवार को सीएम चन्नी के साथ हुई बैठक के बाद समाप्त हो गया। जिसके चलते किसानों ने रेलवे ट्रैक खाली करने शुरू कर दिए हैं। हालांकि रेल ट्रैक खाली होने के बाद साथ के साथ तो गाड़ियों का परिचालन शुरू नहीं होगा, क्योंकि पहले रेलवे विभाग ट्रैक को पूरी तरह से चेक करेगा, जिसके बाद गाड़ियां चलेंगी। लेकिन उम्मीद है कि जो लोग 31 दिसंबर व एक जनवरी को नव वर्ष पर रेलगाड़ी के जरिए सफर करना चाहते थे, उन्हें यह सफर करने को मिल सकता है।

22 दिसंबर की दोपहर करीब दो बजे किसान मजदूर मोर्चा ने मांगों को लेकर एक रोष रैली निकालते हुए फाजिल्का के रेलवे स्टेशन बने ट्रैक पर धरना शुरू कर दिया था। इस दौरान अबोहर से चलकर फाजिल्का पहुंची रेलगाड़ी को किसानों ने वहीं रोक लिया और आगे बढ़ने नहीं दिया। जिस कारण इस रेल में सफर कर रहे यात्रियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा। इसके बाद से ही रेल गाड़ियों का परिचलन पूरी तरह से बंद रहा और किसान व मजदूर दिन रात रेलवे ट्रैक पर डटे रहे। 29 दिसंबर को पंजाब के मुख्यमंत्री के साथ किसानों की बैठक होनी थी, लेकिन ट्रेनें बंद होने के कारण हो रही परेशानी के कारण यूनियन की बैठक एक दिन पहले यानि 28 दिसंबर को बुलाई गई। जिसमें सीएम चन्नी ने किसानों को विश्वास दिलाया कि एक सप्ताह के भीतर उनकी मांगे मान ली जाएगी। जिसके बाद किसानों ने धरना खत्म करने का फैसला ले लिया है।

इस मौके पर धरना दे रही यूनियन के नेता जगदीश कुमार ने बताया कि सीएम चन्नी ने बैठक करके मांगों को पूरा करने का विश्वास दिया है, जिस पर धरना अभी खत्म करने के लिए आदेश मिल गया है। उन्होंने कहा कि रेलवे ट्रैक खाली किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि चार जनवरी को पंजाब सरकार के साथ बैठक होगी है, इससे पहले सरकार ने मांगे मानने का विश्वास दिया है।

उधर, पिछले चार दिनों से रेल गाड़ियां बंद होने के कारण परेशान व्यापारियों व यात्रियों ने जहां राहत की सांस ली है। वहीं नया साल विभिन्न धार्मिक और पर्यटक स्थलों पर माने के लिए जाने वाले लोगों को भी राहत मिलेगी।

Edited By: Jagran