संवाद सूत्र, फाजिल्का : भारतीय किसान यूनियन एकता उग्राहां व भारतीय किसान यूनियन एकता सिद्धूपुर द्वारा मांगों को लेकर डीसी कार्यालय के समक्ष धरना चौथे दिन भी जारी रहा। इस दौरान किसानों ने मांगे के ह ना होने पर संघर्ष तेज करने का ऐलान किया।

उधर, डीसी कार्यालय के भीतर विभिन्न यूनियनों का धरना होने के चलते भारी संख्या में पुलिस बल तैनात रहा। भाकियू उग्राहां के जिला महासचिव गुरभेज सिंह ने कहा कि जब तक उनकी 10 मांगों का हल सरकार व प्रशासन नहीं करता, तब तक उनका संघर्ष इसी तरह जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि एक तरफ सरकार अपने आप को किसान हितेषी बता रही है, जबकि दूसरी तरफ किए गए वायदे पूरे करने से पीछे हट रही है। वहीं भाकियू सिद्धूपुर के जिलाध्यक्ष प्रगट सिंह ने बताया कि कुछ महीने पहले पंजाब में भारी बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई थी जिस कारण फसलों का बहुत बड़े स्तर पर नुकसान हुआ था। जिस पर सरकार ने तुरंत जिला प्रशासन को खराब फसलों के मुआवजे के लिए कार्रवाई करने के आदेश दिए थे और ऐलान किया था कि 17000 रुपये प्रति एकड़ के हिसाब के साथ मुआवजा दिया जाएगा। लेकिन बार बार मांग करने के बावजूद किसानों को अभी तक यह मुआवजा नहीं दिया गया। उन्होंने कहा कि जितनी देर तक पीडित किसानों का पिछला और नया मुआवजा खातों में नहीं डाला जाता, उतनी देर तक यह धरना जारी रहेगा और डीसी दफ्तर का घेराव रखा जाएगा।

इस मौके बलदेव सिंह, सन्नी बराड़, जगमेल सिंह, दलबीर सिंह, इकबाल सिंह, दरबारा सिंह, धनराज सिंह, भूपिदर सिंह, अवतार सिंह, जसकरन सिंह, चानन सिंह,व अन्य उपस्थित थे।

Edited By: Jagran