संवाद सूत्र, फाजिल्का : फाजिल्का जिले में एक बार फिर से डेंगू तेजी से पांव पसर रहा है। लगातार सामने आ रहे डेंगू के मामलों से सेहत विभाग की चिता बढ़ती जा रही है। अब तक जिले में डेंगू के 25 केस सामने आ चुके हैं, जबकि डेंगू के लारवे के मिलने का क्रम भी जारी है। 25 मरीजों का आंकड़ा सरकारी तौर पर है। जबकि कुछ ऐसे भी लोग हैं, जो घर पर ही डेंगू होने संबंधी पता न होने पर ईलाज ले रहे हैं।

सिविल सर्जन डा. दविंद्र ढांडा ने मंगलवार को सेहत कर्मियों व नगर कौंसिल अधिकारियों व कर्मचारियों के साथ एक बैठक की, जिसके बाद जिला महामारी अफसर डा. अमित गुगलानी की अगुवाई में अर्बन क्षेत्र में एंटी लारवा गतिविधियों के लिए आठ टीमों को रवाना किया गया। उक्त टीमें अलग-अलग क्षेत्रों में घरों, दुकानों, सरकारी कार्यालयों आदि में जाकर कूलर, गमलों, टंकियों आदि की जांच करेंगी। सिविल सर्जन डा. ढांडा ने कहा कि डेंगू बुखार एडिज ऐजिपटी नामक मच्छर के काटने से होता है। यह मच्छर ठहरे पानी में पैदा होता है और दिन समय पर काटता है। डेंगू टेस्ट और इलाज जिला अस्पताल फाजिल्का में मुफ्त किया जाता है। । सेहत सुपरवाइजर सुरिद्र मक्कड़ नेबताया कि अगर कहीं डेंगू का लारवा मिलता है तो उसको नष्ट किया जाएगा, लेकिन अगर दोबारा वहीं से लारवा मिलता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इस मौके नरेश खेड़ा, रविद्र कुमार, सरवण सिंह आदि मौजूद रहे।

तहसील कांप्लेक्स में हो शौचालय व पानी का प्रबंध करने की मांग संवाद सूत्र, फाजिल्का : जिला बार एसोसिएशन का एक शिष्टमंडल प्रधान गुलशन महरोक की अगुवाई में मंगलवार को फाजिल्का की नवनियुक्त डिप्टी कमिश्नर बबिता कलेर से मिला। इस दौरान एसोसिएशन द्वारा फाजिल्का में नियुक्त पर डीसी बबिता कलेर का स्वागत किया गया व उन्हें धर्म गुरू बाबा बुद्ध की प्रतिमा भेंट की गई।

इस मौके एसोसिएशन के जिला प्रधान गुलशन महरोक ने फाजिल्का तहसील कांप्लेक्स में पीने वाले पानी के लिए आरओ व्यवस्था, पब्लिक शौचालय और तहसील में वकील के लिए एक अलग बार रूम बनाने की मांग की गई। इसके अलावा अरनीवाला में बनाया गया तहसील कांप्लेक्स काफी नीचे है, जिस कारण जब भी बारिश का मौसम होता है तो बारिश का पानी तहसील कांप्लेक्स में जमा हो जाता है। इसलिए यहां निकासी व ऊंचा करवाने संबंधी प्रयास किए जाए। इस पर डीसी बबिता कलेर ने जल्द ही स्थिति की रिपोर्ट लेकर समस्याओं का हल करने का आश्वासन दिया।

Edited By: Jagran