जेएनएन, अबोहर। शिअद की रैली में पार्टी नेताओं ने कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार के खिलाफ जमकर निशाना साधा। पूर्व मुख्यमंत्री व शिअद सरपरस्त प्रकाश सिंह बादल ने कहा कि पंजाब में शांति व भाईचारा खतरे में है। यह मुझसे सहन नहीं हुआ, इसलिए लंबे समय के बाद मंच पर आया। बादल ने कहा कि कांग्रेस की नीति फूट डालो राज करो की है। अब कांग्रेस बेअदबी मामले में राज्य की शांति भंग करने की तैयारी में है।

प्रकाश सिंह बादल ने कहा कि कांग्रेस ने अपने कार्यकर्ताओं के माध्यम से मंदिरों में गायों की पूंछ फिंकवाई। उसका उद्देश्य राज्य का माहौल खराब करना था। पंजाब ने 15 साल आतंकवाद झेला है। वह नहीं चाहते कि राज्य में फिर वही माहौल बने।

रैली को संबोधित करते हुए शिअद अध्यक्ष सुखबीर बादल ने कहा कि आज कांग्रेसी प्रकाश सिंह बादल पर बेअदबी के आरोप लगा रहे हैं। बादल पर आरोप लगाना चांद पर थूकने के समान है। कहा कि बादल ने जितनी जेल काटी है उतनी कैप्टन अमरिंदर सिंह से राजनीति नहीं की।

शिअद प्रधान ने कहा कि कांग्रेस राज्य में शांति का माहौल भंग करना चाहती है। सुखबीर ने प्रदेश कांग्रेस प्रधान सुनील जाखड़ पर भी निशाना साधा। कहा कि जाखड़ ने उन्हें चुनौती दी थी कि वह यहां घुसकर दिखाएं। आज वह जाखड़ के क्षेत्र में आकर रैली कर रहे हैं। अब जाखड़ क्या बोलेंगे।

सुखबीर ने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह प्रकाश सिंह बादल को बुझदिल कहते हैं, लेकिन कैप्टन बताएं कि वह कभी पांच मिनट धूप में बैठे हैं। बादल साहब ने जीवनभर जनता के लिए सड़कों पर संघर्ष किया है। जितने साल बादल ने जेल काटी उतने साल तो कैप्टन ने राजनीति भी नहीं की। इस बार झूठ के कारण कांग्रेस का दांव लग गया। इस पार्टी ने तो सिख कौम को नशेड़ी ही करार दे दिया था।

बेअदबी मामले में जस्टिस रंजीत सिंह की रिपोर्ट पर सुखबीर ने कहा कि वह कांग्रेसी हैं। उनकी रिपोर्ट को अकाली दल नहीं मानती। यह रिपोर्ट साजिश के तहत बनाई गई है। उन्होंने प्रकाश सिंह बादल पर बेअदबी के आरोप को आड़े हाथ लिया।

इससे पूर्व पार्टी नेता बिक्रम सिंह मजीठिया ने भी कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। कहा कि कांग्रेस झूठे वादे कर सत्ता में आई है। मजीठिया ने सिद्धू को भी आड़े हाथ लिया और कहा कि सिद्धू बिकाऊ माल है। सिद्धू पहले राहुल के खिलाफ बोलते थे। अब वह उन्हीं की गोद में जाकर बैठ गए हैं।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Kamlesh Bhatt