राज नरूला, अबोहर : अबोहर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा ने विधायक अरुण नारंग को दूसरी बार चुनाव मैदान में उतारा है। अरुण नारंग वर्ष 2017 में पहली बार चुनाव मैदान में कूदे व कांग्रेस के सीनियर नेता सुनील जाखड़ को हराने में कामयाब रहे थे। टिकट की दौड़ में और भी कई नाम शामिल थे लेकिन पहले से ही ऐसा माना जा रहा था कि पार्टी सिटिग एमएलए को ही टिकट देगी। किसान आंदोलन के दौरान मलोट में हुई घटना के कारण उनका नाम काफी चर्चा में आया।

वर्ष 2017 में भाजपा-शिअद का गठबंधन का फायदा भी उन्हें मिला और वह जीतने में कामयाब रहे। लेकिन इस बार समीकरण कुछ अलग है, जहां शिअद अलग से चुनाव मैदान में है वहीं भाजपा अकेली ही चुनाव मैदान में है। शिअद-भाजपा के गठबंधन के समय यह सीट भाजपा के हिस्से में ही रही है। अगर अबोहर के इतिहास पर नजर डाले तो यहां से नौ बार कांग्रेस व छह बार भाजपा जनसंघ ने जीत का परचम लहराया है। इस बार अबोहर में कांग्रेस, भाजपा, शिअद व आप के उम्मीदवार के बीच मुकाबला है व उम्मीद है कि संयुक्त समाज मोर्चा का उम्मीदवार भी चुनाव मैदान में उतर सकता है।

----

कमजोर कड़ी

विधायक बनने के बाद राज्य में सरकार कांग्रेस की बनने के बाद शहर के लिए कुछ खास नहीं कर पाए व लोगों की उम्मीदों पर खरा नहीं उतर पाए जिस कारण इस बार जीत की राह आसान नहीं कही जा सकती।

--

मजबूत कड़ी

अरोड़ा बिरादरी से संबंधित है जिनकी वोटों की तादाद काफी है। शहर में इमानदार व शरीफ इंसान की पहचान है। सतापक्ष की एंटी वोट व पार्टी की वोट का फायदा मिल सकता है।

-अनेक मुद्दे है जिसके आधार पर वोट मांगेंगे

अरुण नारंग ने टिकट के लिए पार्टी हाईकमान का आभार जताते हुए कहा कि शहर में हुए विकास कार्य केंद्र की अमृत योजना की ही देन है। उन्होंने कहा कि शहर में कानून व्यवस्था स्थापित करना, भयम़ुक्त प्रशासन देना जैसे अनेक मुद्दे है जिसके आधार पर वोट मांगेंगे।

----

वर्ष 2017

अरुण नारंग भाजपा वोट मिले : 55091

सुनील जाखड़ कांग्रेस 51812

अतुल नागपाल आप 13888

-----

यह उम्मीदवार है चुनाव मैदान में

कांग्रेस के संदीप जाखड़

शिअद के पूर्व विधायक डा महिद्र रिणवा

आप के दीप कंबोज

भाजपा के अरुण नारंग

------

बल्लुआना सीट पर संस्पेंस बरकरार

भाजपा ने बल्लुआना सीट पर अभी तक उम्मीदवार घोषित नहीं किया है। जिसको लेकर संस्पेंस बरकरार है। बल्लुआना सीट भी काफी अहम है। यहां से शिअद छोड़कर भाजपा में शामिल हुए व तीन बार विधायक रह चुके गुरतेज सिंह घुडि़याना टिकट के प्रबल दावेदार है। इसके अलावा यहां से वंदना सांगवाल भी टिकट की चाहवान है।

प्रोफाइल स्टोरी

हलका अबोहर

अरुण नारंग

उम्र 65 साल

इसलिए मिला टिकट: अरुण नारंग अरोड़ा बिरादरी से संबंधित है व अबोहर में अरोड़ा बिरादरी की काफी तादाद है जिसको देखते हुए पार्टी ने उन पर दूसरी बार भरोसा जताते हुए चुनाव मैदान में उतारा है।

Edited By: Jagran