राज नरूला, अबोहर : चोखो अभियान के तहत नगर निगम ने प्रोजेक्ट कदम के तहत शहर को हरा भरा बनाने का काम भी शुरू कर दिया गया है। इसके तहत बनाए जा रहे फुटपाथों पर पौधे व ट्री गार्ड लगाए जा रहे हैं, जिसकी शुरुआत महाराजा अग्रसेन चौक से की गई है। इससे शहर में हरियाली बढ़ेगी व शहर भी सुंदर बनेगा। निगम के अधिकारियों का दावा है कि कदम प्रोजेक्ट के तहत बनाए जा रहे फुटपाथों के बाद पैदल चलने वाले लोगों को सुविधा होगी व ट्रैफिक व्यवस्था में भी सुधार होगा।

प्रोजेक्ट कदम के तहत सबसे पहले बस स्टैंड रोड को चुना गया है, जिसके तहत सड़क के दोनों तरफ फुटपाथ बनाने का काम चल रहा है। निगम कमिश्नर अभिजीत कपलिश ने बताया कि प्रोजेक्ट को ट्रैफिक माहिर नवदीप असीजा की टीम की ओर से तैयार किया गया है। इस प्रोजेक्ट का उद्देश्य शहर की यातायात व्यवस्था को सुचारू करने के लिए सड़कों में सुधार करना है व प्रोजेक्ट का केंद्र बिदू पैदल चलने वाले व्यक्ति है। उन्होंने बताया कि इस प्रोजेक्ट के तहत सड़कों के दोनों तरफ पैदल चलने वाले लोगों के लिए फुटपाथ बनाया जा रहा है, जिससे शहर की ट्रैफिक व्यवस्था में सुधार होगा। इस काम को तीन चरणों में बांटा गया है मलोट चौक, बस स्टैंड रोड व सर्कुलर रोड। यह प्रोजेक्ट आने वाले तीन माह में मुकम्मल कर लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस प्रोजेक्ट के तहत बस स्टैंड रोड पर काम शुरू कर दिया गया है।

संदीप जाखड़ ने बताया कि इस प्रोजेक्ट के लिए फंड की व्यवस्था पहले ही की जा चुकी है व सरकार की ओर से 7.5 करोड़ रुपये स्वीकृत किए गए हैं। यह प्रोजेक्ट इस तरह तैयार किया गया है कि इससे दुकानदारों के कारोबार पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा बल्कि कारोबार बढ़ेगा। इसके लिए किसी से कोई अधिक जगह नहीं ली जाएगी। प्रोजेक्ट के तहत पहले से लगा कोई वृक्ष नहीं उखाड़ा जाएगा, बल्कि नए पौधे लगाए जाएंगे। शहर की पार्किग के लिए सही जगह का इस्तेमाल कर पार्किग की क्षमता तीन गुना बढ़ाने की योजना है। इसके अलावा सड़कों को भविष्य में पाइपों व तारों के लिए बार बार खोदना नहीं पड़ेगा व इस कार्य के लिए पट्टी आरक्षित होगी। उन्होंने बताया इसी कड़ी के तहत मंडी नंबर एक में भी कार्य शुरू किया जा चुका है।

शहर में हरियाली कम होने पर संत सीचेवाल ने जताई थी चिंता

कुछ दिन पहले संत बलवीर सिंह सींचेवाल द्वारा अबोहर का दौरा किया गया था व उन्होंने शहर के विभिन्न प्रोजेक्ट का अवलोकन किया गया था तब उन्होंने शहर में हरियाली कम होने की बात कही थी।

Edited By: Jagran