जागरण संवाददाता, अबोहर : गांव खुब्बन निवासी एक व्यक्ति की संदिग्ध हालातों में हुई मौत के बाद उसके परिजनों ने इसे स्वाइन फ्लू का कारण माना है। उधर, सरकारी अस्पताल व प्रशासनिक अधिकारियों ने इसे नकारते हुए मामले की जांच शुरू कर दी है। जांच के लिए दो टीमें गठित कर इस मामले की पुष्टि के लिए गांव मे भेजी गई।

गांव खुब्बन निवासी 34 वर्षीय बूटा ¨सह के परिजनों ने बताया था कि बूटा ¨सह की हालत खराब होने पर उन्होनें उसे बठिंडा के अंतर्गत आते गांव भुच्चो मंडी के एक अस्पताल में भर्ती करवाया जहां उसकी हालत को गंभीर देखते हुए फरीदकोट रेफर कर दिया। जहां शनिवार को इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। बूटा ¨सह मे स्वाइन फ्लू जैसे लक्षण होने से उसके शव को अबोहर की सरकारी अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया, जिसके बाद रविवार को परिजनों ने उसका अंतिम संस्कार कर दिया। मृतक में स्वाइन फ्लू जैसे लक्षण पाए जाने की सूचना मिलने पर डीसी के आदेश पर एसडीएम पूनम ¨सह ने अस्पताल के अतिरिक्त एसएमओ डॉ. सुधीर पाठक व अन्य डॉक्टरों के साथ बैठक की।

एसडीएम ने कहा कि स्वाइन फ्लू जैसी बीमारी अभी हमारे क्षेत्र में नहीं है और लोग इससे भयभीत न हों क्योंकि इस बीमारी जैसा कोई मामला सामने आने की पुष्टि नहीं हुई है फिर भी एहतियात के तौर पर डॉक्टरी टीमें गठित कर खुब्बन में भेजी हैं, ताकि मृतक के परिजनों द्वारा स्वाइन फ्लू से मौत होने के मामले की पुष्टि की जा सके और लोगों को जागरूक किया जा सके।

सीतो गुन्नों समुदायक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी रवि बांसल के नेतृत्व में मृतक के परिजनों की जांच की जा रही है। एसडीएम ने बैठक में मौजूद सभी डॉक्टरों को कडे़ निर्देश देते हुए कहा कि शहर व आसपास के गांवों में लोगों को जागरूक करने के लिए अधिक से अधिक सेमीनार लगाकर जागरूक करें।

-----------------------------------------------------

कोस्ट

सेहत विभाग की टीमों द्वारा समय-समय पर लोगों को स्वाइन फ्लू जैसे बीमारी के प्रति जागरूक किया जा रहा है। इसके लिए सरकारी अस्पताल अबोहर के वार्ड में एक स्पेशल रूम भी बनाया गया है। क्षेत्रवासियों से अपील है कि अगर किसी में भी स्वाइन फ्लू जैसे लक्षण दिखाई दें तो वे नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र जाकर इसकी जांच करवाएं।

डॉ. युधिष्टर चौधरी, एसमओ, अबोहर

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!