संवाद सहयोगी, मंडी गोबिदगढ़ : श्री बावा लाल दयाल ट्रस्ट द्वारा सत्संग भवन एवं धर्मशाला गुरु नानक कालोनी में नवरात्र पर मंदिर पुजारी पंडित वरुण मिश्रा ने वरिष्ठ उपाध्यक्ष दर्शन लाल भाटिया द्वारा मां दुर्गा पूजन करवाया। पूनम भारती एवं विजय भारती ने यज्ञ कर पूर्णाहुति डाली। पंडित वरुण मिश्रा ने नवमी का महत्व बताते हुए कहा कि धर्म ग्रंथों में तीन वर्ष से लेकर 9 वर्ष की कन्याएं साक्षात माता का स्वरूप मानी जाती हैं। एक कन्या की पूजा से ऐश्वर्य, दो की पूजा से भोग और मोक्ष, तीन की पूजा करने से अर्चना से धर्म, अर्थ एवं काम, चार की पूजा से राज्यपद, पांच कन्याओं की पूजा करने से विद्या, छह कन्याओं की पूजा से छह प्रकार की सिद्धि, सात कन्याओं की पूजा से राज्य, आठ कन्याओं की पूजा से संपदा और नौ कन्याओं की पूजा से पृथ्वी के प्रभुत्व की प्राप्ति होती है। कंजक भोजन कराने के बाद कन्याओं को दक्षिणा देनी चाहिए। इस प्रकार महामाया भगवती प्रसन्न होकर मनोरथ पूर्ण करती हैं। इस मौके संगत में पुरी, चना और हलवा का प्रसाद वितरण किया गया। इस अवसर पर ट्रस्ट महासचिव नरिदर भाटिया, कोषाध्यक्ष विजय भारती, प्रदीप भारती, महिदर क्वात्रा, सुभाष भारती आदि उपस्थित थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!