दीपक सूद, सरहिद

तब्लीगी जमात से जुड़ी दो महिलाओं को कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद जिले के तीन गांव सानीपुर, संघोल व मनैली फिलहाल हाई रिस्क में रखे गए हैं। इसी कारण संदिग्ध लोगों की रिपोर्ट आने तक इन गांवों को पूरी तरह से सील करते हुए पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है। ड्रोन से इन गांवों पर नजर रखी जा रही है। इन गांवों में किसी को भी आने और किसी के जाने पर मुकम्मल पाबंदी लगा दी गई है। पुलिस बकायदा दिन में तीन बार अनाउसमेंट करके लोगों को अपने घरों के दरवाजे बंद रखते हुए अंदर ही रहने की हिदायत कर रही है। और तो और कुछ समय के लिए इन गांवों में दूध और सब्जी विक्रेताओं के आने पर भी रोक लगा दी गई है, ताकि कोरोना संक्रमण के चलते किसी की जान खतरे में न डाली जाए। गांववासियों की सुविधा के लिए प्रशासन ने लोगों से अपील की है कि किसी भी चीज की जरूरत पर उन्हें बताया जाए।

17 संदिग्धों की रिपोर्ट का इंतजार

दो महिलाओं में कोरोना संक्रमण के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने 145 लोगों की पहचान करते हुए 17 संदिग्ध लोगों के सैंपल लिए थे। सरहिद के गांव सानीपुर में 35 लोगों को ट्रेस करके तीन के सैंपल लिए गए थे। खमाणों के गांव मनैली में 158 घरों का सर्वे करके 46 व्यक्तियों को क्वारंटाइन किया गया था। पांच संदिग्ध के सैंपल लिए गए थे। संघोल में 64 लोगों को ट्रेस करते हुए नौ संदिग्ध लोगों के सैंपल लिए गए थे। इन सभी की रिपोर्ट आने का इंतजार है। यदि किसी की रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो खतरा बढ़ सकता है। घबराने की जरूरत नहीं, सावधानी बरतें : सीएस

सिविल सर्जन डॉ. एनके अग्रवाल ने सभी लोगों से अपील की कि घबराने की जरूरत नहीं है। सभी सावधानी बरतें। अच्छी डाइट ली जाए। घरों से बाहर न निकला जाए। किसी भी बाहरी व्यक्ति को घर में न आने दिया जाए। सभी की सुरक्षा एक दूसरे के सहयोग से संभव है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!