संवाद सहयोगी, फतेहगढ़ साहिब : प्राइवेट बस आपरेटरों के कर्मियों ने मंगलवार को सरहिद जीटी रोड पर स्थित पीआरटीसी के बस स्टैंड को बंद करके रोष प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने सरकार से पीआरटीसी की बसों में महिलाओं के मुफ्त सफर को बंद करने की मांग की। उन्होंने कहा कि महिला सवारी प्राइवेट बस में नहीं चढ़ती और उनके साथ ही पुरुष भी प्राइवेट बस में बैठने से कतराते हैं। ऐसे में प्राइवेट ट्रांसपोर्टरों को वित्तीय नुकसान हो रहा है। सरकार के उक्त फैसले के खिलाफ कर्मियों ने जोरदार नारेबाजी की।

मौके पर गुरिदर सिंह, हरप्रीत सिंह, मनप्रीत सिंह, परमिदर सिंह, जगसीर सिंह, बलविदर सिंह सरोता, बब्बू टिवाणा, अजीत सिंह, मनजीत सिंह, गुरमीत सिंह, आत्मा सिंह, सुजान सिंह ने कहा कि पूर्व सरकार द्वारा लिया गया फैसला प्राइवेट ट्रांसपोर्ट के लिए बहुत घातक साबित हुआ है जिस कारण प्राईवेट ट्रांसपोर्ट बंद होने किनारे आ पहुंचा है। अगर अब भी पंजाब सरकार द्वारा इस ओर ध्यान न दिया गया तो प्राइवेट ट्रांसपोर्ट के साथ-साथ बहुत से घरों के चूल्हे ठंडे पड़ जाएंगे। उन्होंने चेतावनी दी कि आज जो प्राइवेट आपरेटरों द्वारा धरने की काल थी यह सिर्फ सांकेतिक धरना था। अगर सरकार द्वारा उनकी मांगों की ओर ध्यान न दिया गया तो वह संघर्ष को और तेज करने को मजबूर होंगे।

Edited By: Jagran