जागरण संवाददाता, फतेहगढ़ साहिब : शहीद ऊधम सिंह की स्मारक पर कबाड़ के टायरों से बने पुष्प चक्र चढ़ाकर बेअदबी के मामले में डिप्टी कमिश्नर सुरभि मलिक ने जांच बिठा दी है। डीसी ने फतेहगढ़ साहिब के एसडीएम डा. संजीव कुमार से रिपोर्ट मांगी है। जिसमें पूरा ब्यौरा मांगा है कि आखिर कौन सा अधिकारी कहां से पुष्प चक्र लेकर आया था। पुष्प चक्र लाते समय किसकी लापरवाही और क्यों रही।

सूत्रों की मानें तो पटियाला में पुष्प चक्र बनाने वाले फूल विक्रेता को भी पूछताछ के लिए बुलाया जा सकता है। एसडीएम की रिपोर्ट मिलने के बाद डीसी अगली कार्रवाई के आदेश देंगी। बातचीत के दौरान डीसी मलिक ने कहा कि दैनिक जागरण के माध्यम से उनके ध्यान में मामला आया था। एक-दो दिन में उनके पास रिपोर्ट आ जाएगी। जिसका भी कुसूर होगा, उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। गौरतलब है कि स्मारक पर पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू श्रद्धांजलि देने पहुंचे थे। इस दौरान प्रशासन द्वारा वहां रखे ज्यादातर पुष्प चक्रों में कबाड़ के टायर थे। सिद्धू को सिरोपा देने वाले कांग्रेस नेता ने मानी गलती

गुरुद्वारा श्री फतेहगढ़ साहिब के दरबार साहिब में नवजोत सिद्धू को सिरोपा देकर मर्यादा भंग करने वाले कांग्रेस नेता गुरप्रीत सिंह लाली ने अपनी गलती स्वीकार कर ली। लाली ने कहा कि उन्हें इस बारे में पता नहीं था। अनजाने में उनसे यह काम हो गया। आगे से इसका ध्यान रखा जाएगा। वे पूर्ण रूप से सिख धर्म और श्री अकाल तख्त साहिब में विश्वास रखते हैं। जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह जो भी उन्हें आदेश देंगे वे मानने को तैयार हैं।

Edited By: Jagran