जागरण संवाददाता, फतेहगढ़ साहिब : इनोबल आइपी के सहयोग से देशभगत यूनिवर्सिटी के आईईडीसी पेटेंट सेल ने नवाचार और बौद्धिक संपदा अधिकारों पर एक संगोष्ठी का आयोजन किया। सत्र दंत विज्ञान के छात्रों और संकाय के लिए था। इसका उद्देश्य संकाय और छात्रों को नवाचार और बौद्धिक संपदा अधिकारों के बीच संबंधों पर प्रेरित और मार्गदर्शन करना था। डा. जोरा सिंह चांसलर डीबीयू ने वेबिनार के प्रबंधन में अपने प्रयासों के लिए पेटेंट सेल आईईडीसी की सराहना की। प्रो-चांसलर डा. तजिदर कौर ने कहा कि इस तरह के सहयोगी आयोजन अच्छा प्रदर्शन और व्यापक दायरा प्रदान करने की दिशा में एक अच्छा कदम है।

विश्वविद्यालय के प्रवक्ता ने कार्यक्रम के बारे में बताते हुए कहा कि आइपीआर विशेषज्ञ करण पुरी जोकि वर्तमान में इनोबल आइपी में एसोसिएट वाइस प्रेसिडेंट के रूप में कार्यरत हैं, ने आइपीआर के बारे में अधिक जानकारी दी। उन्होंने श्रोताओं को संबोधित किया और उन्हें आगे आने और पेटेंट आवेदन के लिए अपने कार्यशील नवीन विचारों को प्रस्तुत करने के लिए प्रोत्साहित किया। छात्रों और शिक्षकों ने बड़ी रुचि के साथ भाग लिया। अंत में छात्रों के लिए एक पूछताछ सत्र आयोजित किया गया, जिसमें विशेषज्ञ ने सरल भाषा में उत्तर दिया। इस मौके डीबीयू की वाइस चांसलर डा. शालिनी गुप्ता ने कहा कि हमें ऐसे आयोजनों की प्रतीक्षा करनी चाहिए क्योंकि वे बड़े क्षेत्र में बेहतर संचार और जागरूकता के लिए आवश्यक हैं।

Edited By: Jagran