संदीप अरोड़ा, बस्सी पठाना : विधानसभा हलका बस्सी पठाना के जागरूक लोगों ने शहर पर लगे गंदगी के धब्बे को भड़ास के रूप में निकालते हुए कांग्रेस को 12 बूथों पर अच्छी तरह से धो दिया है। जिसमें सात बूथ शहर तथा बाकी पांच बूथ ग्रामीण इलाकों से संबंधित हैं जहां कांग्रेस को 162 वोटों से हार मिली है। इस बात से इंकार भी नहीं किया जा सकता कि बस्सी पठाना के अधिकतर शहरी लोगों ने अपने शहर को देश भर में स्वच्छता सर्वेक्षण से मिले 869वें रैंक से आहत होकर ही कांग्रेस के खिलाफ फतवा दिया है।

यहीं बस नहीं लोकसभा चुनावों में बाजार के दुकानदारों ने एक बार तो कांग्रेस के खिलाफ झंडा उठा लिया था और अपनी मांगों को लेकर वोटों का बायकॉट करने के बैनर पोस्टर तक बाजारों में लगवा दिए थे। इसी रोष के कारण शहर के बूथ नंबर, 101, 104, 108, 109, 112, 114 और 115 पर कांग्रेस को महज 1561 वोट मिले हैं, जबकि इन्हीं बूथ पर अकाली दल को 1573 वोट मिले हैं। इसी तरह ग्रामीण इलाकों के बूथ नंबर 116, 89, 92, 94, 95 पर कांग्रेस को 993 वोट तथा अकाली दल को 1143 वोट ही मिले हैं। कुल मिलाकर इस बार लोकसभा चुनावों में 12 बूथों पर बस्सी पठाना के लोगों ने कांग्रेस को पटकनी दे दी है, जिसमें कांग्रेस को 2554 तथा अकाली दल को 2716 वोट मिले हैं जिसमें अकाली दल की जीत का अंतर 162 है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran