जागरण संवाददाता, फतेहगढ़ साहिब : बाबा बंदा सिंह बहादुर इंजीनियरिग कालेज के एग्रीकल्चर विभाग द्वारा कृषि विज्ञान केंद्र फतेहगढ़ साहिब के साथ मिलकर पराली प्रबंधन विषय पर सेमिनार करवाया गया। विभाग प्रमुख डा. लखविदर सिंह ने कहा कि मौजूदा समय में पराली प्रबंधन पंजाब और हरियाणा की कृषि से संबंधित एक मुख्य समस्या है और इस समस्या का हल आधुनिक वैज्ञानिक तरीकों से निकाला जा सकता है। सेमिनार के मुख्य वक्ता डा. शिवा भंमबोटा सहायक प्रोफेसर पंजाब एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी लुधियाना ने विद्यार्थियों को पराली प्रबंधन के विभिन्न आधुनिक तरीकों के बारे में जानकारी दी। प्रो. गुरप्रीत सिंह की अगुआई में एग्रीकल्चर इंजीनियरिग विभाग के विद्यार्थियों ने पराली प्रबंधन विषय पर विचार विमर्श किया। विभाग द्वारा इस विषय पर भाषण प्रतियोगिता भी करवाई गई। जिसमें रमनदीप सिंह, पलकवीर सिंह, गुणतेश्वर सिंह, स्नेहदीप सिंह, अभिनव कुमार और नीतीश कुमार विजेता रहे। डिप्टी डायरेक्टर केवीके फतेहगढ़ साहिब डा. विपिन कुमार रामपाल ने भी विद्यार्थियों से अपने विचार सांझा किए। इस अवसर पर प्रिसिपल डा. जीएस लांबा, डा. लखविदर सिंह, डा. लखवीर सिंह, डा. अमृतबीर सिंह, प्रो. जेएस रटौल, प्रो. गुरप्रीत सिंह, राखी रानी, दविदर सिंह आदि उपस्थित थे। शपथ ग्रहण से पहले ही सड़कें बनावानी शुरू की

संस, राजुपरा (पटियाला) : दिल में कुछ कर गुजरने की चाह हो तो कोई भी काम मुश्किल नहीं है इसी वाक्य को चरितार्थ किया है वार्ड-2 की निडर व समाज सेवी पार्षद बीबी जतिंद्र कौर वड़ैच नें। कांग्रेस के टिकट पर जीती वड़ैच ने शपथ ग्रहण करने से पहले ही वार्ड वासियों के जरूरी कार्य करने शुरू कर दिए हैं। फोकल प्वाइंट में वैसे तो अभी बहुत से कार्य होने हैं लेकिन सड़कों व नालियों के द्वारा पानी निकासी अति जरूरी कार्य है। उन्होंने पहल के आधार पर इस कार्य को करवाना शुरू कर दिया है।

Edited By: Jagran