संवाद सहयोगी, फरीदकोट

शहर में स्थित मणिपुरम गोल्ड लोन कंपनी के दफ्तर में तीन हथियारबंद नकाबपोश लुटरों ने लूट की वारदात को अंजाम देने की कोशिश की। कंपनी के मैनेजर की बहादुरी की चलते उनको लौटना पड़ा, घटना की पुरी वारदात दफ्तर के अंदर लगे सीसीटीवी कैमरों में कैद हो गई है, फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

मणिपुरम गोल्ड लोन कंपनी के मैनेजर गुरप्रीत सिंह ने बताया कि उनकी ब्रांच के अंदर तीन नौजवान दाखिल हुए जिनमें से 2 के पास पिस्तौल थे। उन्होंने पिस्तौल दिखाकर लूट करने की कोशिश की, जिनसे उसकी हाथापाई भी हुई। इस दौरान इमरजेंसी सायरन बजाने के चलते वह डर कर भाग गए। उन्होंने कहा कि हमने इस मामले के बारे में स्थानीय सिटी फरीदकोट में लिखित शिकायत कर दी है।

शहरवासी अमन कुमार, नरेश कुमार व महेश कुमार का कहना है कि शहर में लूट की वारदातें बढ़ती जा रही हैं, लेकिन पुलिस प्रशासन इस तरफ बिल्कुल भी ध्यान नहीं दे रहा चाहे रास्ते मे किसी का पर्स छनने का मामला व मोटरसाइकिल चोरी का मामला हो चाहे किसी को पिस्तौल के बल पर पैसे छीनने का मामला ऐसी घटनाएं होती रहती है। पुलिस इस पर जरा भी गंभीर नहीं है लोगों का आना जाना बहुत मुश्किल हो रहा है, पिस्तौल के बल पर इस तरह कई वारदात हो चुकी है, लेकिन शहर में अमन-कानून बिलकुल चरमरा गई है। इनसेट

आरोपित जल्द होंगे काबू : थाना प्रभारी

सिटी थाने के प्रभारी राजबीर सिंह के साथ बात की गई, तो उन्होंने कहा कि कुछ हथियारबंद लुटेरों की तरफ से लूट करने की कोशिश की गई, परन्तु एमरजैंसी अलार्म बजने पर वह मौके से फरार हो गए। उन्होंने कहा कि सीसीटीवी कैमरों की फुटेज के आधार पर आरोपियों को पकड़ने की कोशिश की जा रही है, और जल्द ही उनको काबू कर लिया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!