जागरण संवाददाता, फरीदकोट

लंबे अर्से बाद जिले में पांच एमएम बारिश हुई। बारिश होने के बाद चली हवा से मौसम खुशनुमा हो गया, हालांकि बारिश से पहले चली धूलभरी हवाएं लोगों के लिए परेशानी लेकर आई। हवा तेज होने के ग्रामीण हिस्सों में बड़ी संख्या में बिजली के पोल भी टूट धरासाई हो गए, जिससे बिजली सप्लाई बाधित हुई, कई जगह पर ट्रांसफर्मर भी नीचे गिर गए। कई बिजली पोलों के टूट जाने से ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली सप्लाई होने में समय लगने की बात बिजली विभाग के अधिकारियों की ओर से कही जा रही है।

शनिवार को जिले में हुई पांच एमएम बारिश पिछले तीन माह में सबसे ज्यादा है। विगत आठ सालों में यह एक रिकार्ड ही है कि मार्च, अप्रैल व मई महीने में इस बार सबसे कम बारिश हुई है। बारिश न होने के कारण सबसे ज्यादा परेशानी पशु-पक्षियों को हो रही थी। प्रचंड गर्मी से जूझ रहे पशु-पक्षियों को भी राहत मिलेगी। बारिश होने से थोड़ी से बिजली खपत भी घटेगी, परंतु आने वाले दिनों में प्रचंड गर्मी की संभावना को देखते हुए ऐसी आशंका व्यक्त की जा रही है, लोगों को बिजली की कमी का सामना करना पड़ेगा।

मूंग, मक्कीव सब्जी उत्पादक किसानों के लिए यह बारिश अमृत के समान है। बारिश होने फरीदकोट जिले का तापमान का पारा छह डिग्री सेल्सियस लुढ़ककर 38 डिग्री सेल्सियस पर आ गया, हालांकि यह खुशनुमा मौसम रविवार को बदलेगा। इनसेट

आगे करना पड़ेगा गर्मी का सामना : ड. मिश्रा

पंजाब एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी के क्षेत्रीय कार्यालय के मौसम विज्ञानी डा. सुधीर मिश्रा के अनुसार आने वाले पांच दिन मौसम साफ रहेगा। लोगों को तेज गर्मी का सामना करना पड़ेगा।

Edited By: Jagran