प्रदीप गर्ग,गोलेवाला

सीनियर सेकेंडरी स्कूलों मे दिखने लगी विद्यार्थियों की चहल-पहल। कक्षा 10 11 में 12 के विद्यार्थियों के लिए स्कूल खोले जा चुके हैं, और बच्चे भी स्कूल में आने शुरू हो गए हैं। सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्मार्ट स्कूल गोलेवाला में सौ बच्चे स्कूल पढ़ने के लिए आए, जिसमें से कुछ बच्चों को अध्यापकों द्वारा घर वापस भेज दिया गया।

सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्मार्ट स्कूल गोलेवाला की इंचार्ज नीता सोढ़ी ने बताया बच्चों के परिजनों की सहमति से ही बच्चों को स्कूल बुलाया गया है। जिन बच्चों द्वारा अपने माता-पिता की सहमति का पत्र लाया गया, उन्हीं बच्चों को क्लास में प्रवेश दिया गया है। जिन बच्चों द्वारा अपने परिजनों से सहमति पत्र नहीं लाया गया, उन्हें आनलाइन क्लास द्वारा ही पढ़ाया जाएगा इसलिए उन्हें घर वापस भेज दिया गया।

स्कूल के मेन गेट पर ही मास्क व सैनिटाइजर के साथ कर्मचारी की ड्यूटी लगाई गई थी गेट पर ही बच्चों को मास्क दिए जा रहे थे, व सैनिटाइजर से हाथों को साफ करवाया जा रहा था। उसके बाद ही बच्चों को स्कूल के अंदर एंट्री करने दी जा रही थी। बच्चों को कक्षा में भी फिजिकल डिस्टेंसिग के साथ ही बिठाया गया और पढ़ाई कराई गई।

गुरुहरकृष्ण पब्लिक स्कूल गोलेवाला की प्रिसिपल अनुपमा ने बताया उनके स्कूल में भी दसवीं कक्षा के स्टूडेंट को उनके माता-पिता की आज्ञा के अनुसार ही क्लासों में प्रवेश दिया गया। पहला दिन होने के कारण आज बच्चों की संख्या कम थी। स्कूलों के खुलने को लेकर जिला शिक्षा अधिकारी से बात करने की कोशिश की गई पर बार-बार संपर्क करने के बावजूद उनसे कोई संपर्क नहीं हो पाया।

Edited By: Jagran