जागरण संवाददाता, फरीदकोट

मिनिस्टीरियल सर्विस यूनियन पंजाब के आहवान पर जिला फरीदकोट के तमाम सरकारी विभागों के मिनिस्टीरियल कर्मियों ने वीरवार को लगातार दूसरे दिन भी कलम छोड़ हड़ताल रखी। इस हड़ताल के कारण वीरवार को भी डिविजन कमिश्नर, डीसी, एसडीएम, तहसीलदार, शिक्षा विभाग, ट्रांसपोर्ट विभाग, खेतीबाड़ी, लोक भलाई ,फूड सप्लाई के दफ्तरों समेत जिले भर के तमाम तकरीबन सभी सरकारी दफ्तरों में सन्नाटा छाया रहा और कामकरवाने आए लोगों को निराश ही लौटना पड़ा।

हड़ताल के दौरान कर्मियों द्वारा शहर में रोष मार्च भी निकाला गया और मिनी सचिवालय में डीसी दफ्तर के समक्ष रोष प्रदर्शन किया गया। इस मौके पर यूनियन के प्रांतीय उप प्रधान व जिला प्रधान अमरीक ¨सह संधू

,जिला महासचिव नरिन्द्र शर्मा, जिला वित्त सचिव अमरजीत ¨सह वालिया, डीसी दफ्तर यूनियन के जिला प्रधान गुर¨वदर ¨सह विर्क, वरिन्द्रजीत ¨सह पुरी, ज¨तदर कुमार, प्रेस सचिव पवन कुमार अनेजा, जस¨वदर ¨सह, निशान ¨सह, नछतर ¨सह ढैपई, न¨गदर ¨सह काला, गुरजंट ¨सह, कुल¨वदर ¨सह, सुरिन्द्र ¨सह, गगनप्रीत ¨सह, बलबीर ¨सह,, सुखदीप ¨सह, विक्रमजीत ¨सह, मनीष कुमार, रू¨पदर ¨सह,कर्मजीत ¨सह, गुरमुख ¨सह रोमाना ,देसराज गुज्जर, जस¨वदर ¨सह, अम¨रदर ¨सह गोल्डी, कुलदीप कुमार, कुल¨वदर ¨सह आदि ने कहा कि पंजाब सरकार द्वारा पिछले लंबे समय से दफ्तरी कर्मियों की मांगों की अनदेखी की जा रही है जिसके चलते कर्मियों में रोष पाया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि कर्मियों के डीए का बकाया 1400 करोड़ रूपये से बढ़कर 6 हजार करोड़ रूपये हो चुकी है। यह हड़ताल 17 फरवरी तक जारी रहेगी और उस दिन प्रदेश स्तरीय बैठक करके अगले संघर्ष की घोषणा की जाएगी।

इस मौके पर बलजीत ¨सह, वरिन्द्र ¨सह, रीना रानी, रा¨जदर कौर स्टैनो, नीलकरण, अमरजीत ¨सह पन्नू, द¨वदर गोयल, मनजीत ¨सह, तरसेम ¨सह आदि ने विचार रखे और पंजाब सरकार की कर्मचारी विरोधी नीतियों के प्रति रोष जताया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!