संवाद सूत्र, जैतो

जैतो निकाय अध्यक्ष के चुनाव में उठा बवाल चर्चा का विषय बना हुआ है। सांसद मुहम्मद सदीक ने प्रेस तथा मीडिया में अपनी ही पार्टी के फरीदकोट से विधायक कुशलदीप सिंह ढिल्लों पर अपने हलके जैतो में दखलअंदाजी का अरोप लगाया है। इसी के जवाब में बुधवार को जिला योजना बोर्ड के चैयरमैन पवन गोयल व जैतो निकाय के नव नियुक्त उपाध्यक्ष जीतू बांसल के नेतृत्व में कांग्रेसी कार्यक्रताओं ने एक प्रस कांफ्रेस की। पवन गोयल ने कहा कि पार्टी हाईकमान का फैसला हम सभी को मानना पड़ता है। सांसद मुहम्मद सदीक द्वारा फरीदकोट के विधायक कुशलदीप सिंह ढिल्लों के खिलाफ बयानबाजी की जा रही है जो सरासर गलत है। यदि उन्हें लगता है कि उनके साथ बेइंसाफी हुई है तो वह अपनी बात पार्टी हाईकमान के सामने रखें। विधायक कुशलदीप सिंह ढिल्लों विधायक होने के साथ-साथ मुख्यमंत्री के सलाहकार भी हैं उन्हें किसी भी हलके में आने जाने का पूरा अधिकार है। अगर हलका सेवादार किसी कार्यकर्क की बात नही सुनेगा तो कार्यकर्क किसी अन्य नेता का सहारा तो लेगा ही। पार्टी में पदों के चयन के लिए किसी नेता की शिफारिश तो लेनी ही पड़ती है अगर विधायक कुशलदीप ढिल्लों ने किसी के नाम की शिफारिश कर दी तो क्या गलत किया।

इस अवसर पर पार्षद तुलसी राम, पूर्व पार्षद विकास घंटी डोड, पूर्व निकाय अध्यक्ष अमरजीत सिंह भोला व गरीब दास आदि हाजिर थे। इनसेट

दखलअंदाजी गलत : मुहम्मद सदीक

सांसद मुहम्मद सदीक ने कहा कि चार वर्षो से मेरे हलके में विधायक कुशलदीप सिंह ढिल्लों द्वारा दखलअंदाजी करके पार्टी कार्यकर्ताओं को मेरे खिलाफ भड़काया जा रहा है। जब पार्टी हाईकमान ने मुझे जैतो हलके का सेवादार लगाया हुआ है तो विधायक कुशलदीप सिंह ढिल्लों को दखलअंदाजी करनी कितनी जायज है। वह गत चार वर्षों से सब सह रहे हैं लेकिन अब मैं चुप नही बैठूंगा। जैतो निकाय अध्यक्ष चुनाव के दौरान लोकतांत्रिक प्रक्रिया की हत्या की शिकायत पार्टी हाईकमान तक पहुंचाऊंगा।