जागरण संवाददाता, फरीदकोट

प्रदेश सरकार के मंत्रिमंडल में एक बार फिर फरीदकोट की अनदेखी की गई। मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के मंत्रियों का राजभवन में रविवार दिन में साढ़े दस बजे शपथ ग्रहण होने जा रहा है, मंत्रिमंडल में शामिल जिन विधायकों के नाम शामिल है, उसमें फरीदकोट जिले के एकलौते कांग्रेस विधायक कुशलदीप सिंह ढिल्लो का नाम नहीं है। इससे ढिल्लों समर्थक उन लोगों को घोर निराशा हाथ लगी है, जो कि इस बार गठित होने वाले मंत्रि मंडल में ढिल्लो का नाम तय मान रहे थे।

मालवा के कद्दावर नेताओं में शुमार फरीदकोट के विधायक कुशलदीप सिंह ढिल्लो की प्रदेश कांग्रेस प्रधान नवजोत सिंह से करीबी है। हालांकि विधायक ढिल्लों पूर्व में कैप्टन-सिद्दू विवाद में कभी खुलकर कुछ नहीं बोलते हुए दिखे परंतु कई मौकों पर वह सिद्दू के निकट ही दिखाई दिए। ऐसे में चन्नी मंत्रिमंडल में अधिकांश चेहरों के नए होने की आशा व्यक्ति की जा रही थी, परंतु कैप्टन सरकार में मंत्री रहे आठ पुराने चेहरों व सात नए चेहरों को मौका मिला है। कैप्टन सरकार में फरीदकोट, फिरोजपुर, फज्लिका व श्रीमुक्तसर साहिब के जिलों से मात्र एक मंत्री राणा गुरमीत सिंह सोढ़ी को बनाया गया था। इस बार के गठित होने जा रहे मंत्रिमंडल में इन जिलों से एक ही मंत्री बन रहा है। अंतर बस इतना है कि पहले फिरोजपुर जिले से राणा गुरमीत सिंह सोढ़ी को खेलमंत्री बनाया गया था, अब उनकी जगह मंत्रिमंडल में श्रीमुक्तसर साहिब जिले के राजा अमरिदर सिंह वडिग मंत्री बन रहे है।

Edited By: Jagran