प्रदीप गर्ग, गोलेवाला, फरीदकोट

मूंग की फसल को लेकर पंजाब सरकार द्वारा एमएसपी 7275 रुपये पर खरीद की गारंटी दी गई थी। एक जून से मूंग की सरकारी खरीद शुरू कर दी गई थी, जिसे देखते हुए फरीदकोट मार्कफेड द्वारा 30 जून तक 284 क्विंटल 50 किलो मूंग की खरीद की गई।

फरीदकोट मार्कफेड के ब्रांच मैनेजर सरनवीर सिंह संधू ने बताया फरीदकोट में 22 जून से मूंग की आमद व खरीद शुरू हुई थी जो 30 जून तक 569 बैग (50 किलो प्रति) की खरीद की गई। उन्होंने बताया लगातार मूंग की खरीद की जा रही है, जो भी अच्छी क्वालिटी की मूंग मंडी में आती है, उसे सरकार द्वारा खरीद लिया जाता है। कई किसानों का कहना है कि हमारे द्वारा लाई गई मूंग को तीन-तीन बार पंखा लगाने के बावजूद नहीं खरीदा जाता, जिससे उन्हें अपनी फसल वापस लेकर जानी पड़ती है,नहीं तो प्राइवेट व्यापारियों को कम रेट में बेचनी पड़ती है।

किसानों का कहना है फरीदकोट जिले में मूंग खरीद के लिए एक ही खरीद सेंटर बनाया गया है, जो कि फरीदकोट में ही है। जैतो, बजाखाना, फरीदकोट से काफी दूर पड़ता है, जिससे किसानों को अपनी फसल लाने ने में परेशानी होती है। किसानों द्वारा मांग की गई कि सरकार को बाजाखाना, जैतो के नजदीक भी मूंग खरीद सेंटर बनाना चाहिए, जिससे इन क्षेत्रो के किसानों को परेशानी ना हो।

मार्केट कमेटी के बोली क्लर्क उमेश कालरा ने बताया फरीदकोट में प्राइवेट व्यापारियों द्वारा अब तक 30 क्विंटल 50 किलो मूंग की खरीद की गई है, और सरकारी 284 क्विटल 50 किलो खरीद हुई है, फरीदकोट में टोटल मूंग की खरीद 315 क्विटल के लगभग हुई है। मूंग का प्राइवेट भाव ज्यादा से ज्यादा 5625 रुपये है। इनसेट

सरकारी मापदंड के अनुसार की जी रही खरीद : रूपिंदरजीत सिंह

मार्कफेड के इंस्पेक्टर रूपिंदरजीत सिंह ने कहा हमें सरकारी तय किए गए मापदंडों के अनुसार ही मूंग की खरीद करनी होती है। कई किसानों की मूंग की फसल दागी होने के कारण या उनके अंदर टुकड़ा होने के कारण ही रिजेक्ट की जाती है।

Edited By: Jagran