जेएनएन, फरीदकोट

महावीर सेना की एक बैठक राष्ट्रीय अध्यक्ष गौरव कक्कड़ की अध्यक्षता लाईन बाजार गली नंबर 7 स्थित कार्यालय में हुई। इसमें प्रदेश मैरिज पैलेसों को खुलवाने के बारे में केंद्र सरकार और पंजाब सरकार से मांग की गई।

गौरव कक्कड़ ने कहा कि मैरिज पैलेसों के बन्द होने से बहुत से लोग बेरोजगार हो गए हैं।

वर्तमान समय में जिस हिसाब से 50 लोगों से अधिक लोग विवाह में शामिल नहीं हो सकते उस हिसाब से मैरिज पैलेसों के पास जगह अधिक होने के कारण शारीरिक दूरी के नियम का पालन आसान है। मैरिज पैलेस बन्द होने से फूलों वाले, डीजे वाले, हलवाई, वेटर, मिनरल वाटर वाले, सजावट वाले, फास्टफूड वाले, सब्जी फल विक्रेता भी फाके काट कर कठिनतापूर्वक दिन गुजार रहे हैं।

उन्होंने सरकार से अपील की कि जल्द ही मैरिज पैलेसों के बारे में नियम और कायदे बनाकर इन्हें खुलवाया जाये। मैरिज पैलेस बंद होने से इनके मालिक भी धीरे धीरे आर्थिक संकट का सामना कर सकते हैं। बंद पड़े मैरिज पैलेसों में स्थायी कर्मचारियों के वेतन के अलावा बिजली, पानी का बिल और अन्य खर्चे जारी हैं जो ज्यादा देर तक वहन करना संभव नहीं। उन्होंने कहा कि अगर कोटकपूरा के एक होटल में प्रोग्राम होने से कोरोना का फैलाव नहीं हो सकता तो बाकी होटलों और मैरिज पैलेसों को खुलवाने से सरकार और प्रशासन क्यों हिचकिचा रहा है।

इस मौके एससी विग के राष्ट्रीय अध्यक्ष लखवीर सिंह गोलेवाला, राष्ट्रीय महामंत्री फत्ता सिंह हसनभट्टी और जाट सेना के प्रधान गुरप्रीत सिंह भी मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!