जागरण संवाददाता, फरीदकोट,

शनिवार दिन भर रुक-रुक होती रही बारिश से आमजनों को जहां परेशानी हुई, वहीं राजनीतिक दलों के नेताओं का डोर टू डोर चुनाव प्रचार भी प्रभावित हुआ। बारिश के कारण लोग घरों से बाहर कम निकले जिससे शहर की बाजारों में सन्नाटा पसरा रहा।

शनिवार जिले में साढ़े सात मिलीमीटर बारिश हुई। जबकि अधिकतम तापमान 14 और न्यूनतम 10 डिग्री सेल्सियस रहे है। बारिश के कारण ग्राहकों के घरों से बाहर न निकले से दुकानदार से मायूस हुए। बारिश होने के कारण रात्रि और दिन में दस घंटे से ज्यादा का बिजली कट लगी, जिससे लोगों को ज्यादा परेशानी हुई। हालांकि बारिश के बीच भी कई लोग आवागमन करते हुए दिखाई दिए। मौसम विभाग के अनुसार बारिश की संभावना अगले 48 घंटे तक बनी हुई है। बारिश होने के बाद कड़ाके की सर्दी से लोगों को राहत मिलने की आशा है, साथ में मौसम खुलने से भी फसलों की रंगत बदलेगी। दिनभर बारिश के अधिकतम तापमान और गिरा

शहर में मौसम एक बार फिर खलनायक बन गया। सुबह से कभी रिमझिम तो कभी तेज बारिश के बाद अधिकतम तापमान एक डिग्री सेल्सिस और लुढ़क कर 13 डिग्री सेल्सियस तक जा पहुंचा, जिससे पूरे दिन ठिठुरन बनी रही। हालांकि न्यूनतम तापमान उछलकर 11 डिग्री सेल्सियस तक जा पहुंचा। मौसम विभाग के अनुसार 23 जून को भी बारिश होने का अनुमान है, जबकि 24जून से मौसम खुलना शुरू हो जाएगी। 26 जनवरी को आसमान पूरी तरह साफ हो सकता है।

शहर में शनिवार सुबह 10 बजे से तेज हवाओं के साथ बारिश शुरू हो गई थी। हवाएं 23 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलीं, जिससे सर्दी ज्यादा बढ़ गई। शाम के समय गरज के साथ बारिश पड़़ी। पूरे दिन आधा घंटे भी बारिश लगातार नहीं थमी, जिस कारण जनजीवन पूरी तरह प्रभावित रहा। दिन के समय भी बाजारों में सन्नाटा पसरा रहा,सिर्फ प्रत्याशी ही मौसम के इस सन्नाटे को तोड़ते हुए नजर आये। वीक एंड होने के कारण ज्यादातर समय तो लोग घरों से बाहर ही नहीं निकले

लगातार 24वें दिन सूरज एक पल के लिए भी नहीं निकला। बारिश के कारण शहर के प्रमुख रास्तों पर जलभराव व कीचड़ जम जाने के कारण पैदल निकलने वालों का काफी मुश्किल का सामना करना पड़ा, वाहनों का चलना भी मुश्किल हो रहा था, लोग काफी धीमी गति से वाहन चलाते हुए दिखे। सुबह 10 बजे शुरू हुआ बारिश का दौर रात को आठ बजे तक जारी था।

Edited By: Jagran