जेएनएन, फरीदकोट : जिले के सरकारी स्कूलों में हुए विकास कार्य, स्मार्ट स्कूल, मिड-डे मिल व अन्य कार्यो की समीक्षा करने के लिए हुई जिला शिक्षा विकास कमेटी की बैठक सहायक आयुक्त हरदीप सिंह की अध्यक्षता में हुई।

बैठक के दौरान शिक्षा विभाग के अधिकारियों की ओर से हुए कार्यो से सहायक आयुक्त को अवगत करवाया गया। इस अवसर पर बोलते हुए, उप जिला शिक्षा अधिकारी धर्मवीर सिंह ने कहा कि जिले के 246 स्कूलों में से 189 को सेल्फ-मेड स्मार्ट स्कूलों में बदल दिया गया है और शेष स्कूलों को सेल्फ-मेड स्मार्ट स्कूल बनाने का लक्ष्य 29 फरवरी, 2020 तक पूरा कर लिया जाएगा। उन्होंने यह भी बताया कि आईईडी कम्पोनेंट (स्पेशल नीड्स चिल्ड्रन) के तहत जिले में, 2493 विशेष जरूरतों वाले बच्चों की जिले में पहचान की गई है। इसके अलावा, विशेष जरूरतों वाले बच्चों, 35 बच्चों को कवर करने और उन्हें दोपहर का भोजन और परिवहन प्रदान करने के लिए जिला स्तर पर एक विशेष केंद्र चलाया जा रहा है। व्यावसायिक व्यावसायिक शिक्षा प्रदान करने के लिए व्यावसायिक परियोजनाएं भी शुरू की गई हैं, जिसमें बच्चों को व्यावसायिक शिक्षा दी जाती है ताकि वे भविष्य में स्वयं रोजगार प्राप्त कर सकें। उन्होंने पाठ्य पुस्तकों के विशेष प्रशिक्षण और वितरण पर भी विस्तार से बताया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!