-जिप के लिए 855 व पंचायत समितियों के लिए 6028 उम्मीदवार मैदान में

-402 उमीदवार निर्विरोध चुने गए, 3734 ने नामाकन पत्र वापस लिए

----

राज्य ब्यूरो, चंडीगढ़: प्रदेश में 22 जिला परिषदों के लिए 855 और 150 पंचायत समितियों के लिए 6028 उम्मीदवारों को चुनाव निशान आवाटित कर दिए गए। नामाकन पत्र वापस लेने के आखिरी दिन बुधवार को कुल 3734 उम्मीदवारों ने अपने नामाकन पत्र वापस लिए। इनमें से जिला परिषदों के 446 और पंचायत समितियों के 3288 उम्मीदवार शामिल हैं। नामाकन पत्र वापस लेने के बाद जिला परिषद के 33 व पंचायत समितियों के 369 उमीदवार निर्विरोध चुने गए हैं। वहीं, राज्य चुनाव आयोग ने मतदान से संबंधित समूची सामग्री बाट दी है। बैलेट पेपरों की छपाई का काम भी शुरू हो गया है। 19 सितंबर 2018 को मतदान होगा।

---

19 रहेगा अवकाश

पंजाब सरकार ने राज्य में जिला परिषद और पंचायत समिति की 19 सितंबर को होने वाले आम चुनाव के मद्देनजर दुकानों, व्यापारिक अदारों और फैक्ट्रियों में काम करते कामगारो के लिए वेतन समेत छुट्टी घोषित की है। पंजाब सरकार ने 19 सितंबर को उन दुकानों, व्यापारिक अदारों और फैक्ट्रियों में जहा बुधवार को साप्ताहिक छुट्टी नहीं होती, उनके लिए वेतन समेत छुट्टी घोषित की है। यह पहले निर्धारित साप्ताहिक छुट्टी की एवज में होगी। काग्रेसियों से जमा नहीं करवाए हथियार: चीमा

आम आदमी पार्टी पंजाब के सीनियर नेता और विरोधी पक्ष के नेता एडवोकेट हरपाल सिंह चीमा ने आरोप लगाया है कि राज्य में पंचायती चुनाव के मद्देनजर चुनाव आचार संहिता लागू हो गई है, लेकिन सरकार भय-मुक्त, निष्पक्ष चुनाव करवाने की बजाय जानबूझ कर दहशत का माहौल पैदा कर रही है। इस मंसूबे के चलते कैप्टन सरकार ने काग्रेसी वर्करों को ढील दी है। सरेआम पक्षपात करते बड़ी संख्या में काग्रेसियों व गैर-सामाजिक तत्वों से उनके लाइसेंसी हथियार जमा नहीं करवाए गए। चीमा ने बताया कि बड़े स्तर पर काग्रेसी और सत्ता की शह प्राप्त रसूखदार लाइसेंसी हथियार ले कर घूम रहे हैं। आम जनता में भय का माहौल बना रहे हैं। दूसरी तरफ आम लोगों से लाइसेंसी हथियार जमा करवाए गए हैं।

Posted By: Jagran