चंडीगढ़, [बलवान करिवाल]। कई लोग मास्क नहीं पहनने के तरह-तरह के बहाने गिनाते हैं। इनमें एक बहाना यह भी रहता है कि मास्क पहनने से उनका चेहरा ही नहीं दिखता। यह लोग ऐसी जगह मास्क उतार देते हैं, जहां पुलिस या अथोरिटी का डर नहीं होता। हालांकि कानूनी तौर पर मास्क पहनना अनिवार्य है, इसके लिए कोई बहाना नहीं चलता। लेकिन अब चेहरा नहीं दिखने का बहाना भी नहीं चलेगा। ट्राईसिटी के एक युवा ने इसका इलाज भी ढूंढ लिया है।

जीरकपुर में रहने वाले माणिक गर्ग ने एक ऐसा मास्क बनाया है जो व्यक्ति को इंफेक्शन से तो बचाएगा ही, साथ ही चेहरा भी नहीं छिपेगा। माणिक ने बताया कि उन्होंने यह मास्क बनाने से पहले मार्केट में सर्वे किया। सामने निकल कर आया कि बहुत से लोग खासकर युवा चेहरा ढकने की वजह से मास्क नहीं पहनना चाहते। इस बात को ध्यान में रखते हुए उन्होंने यह ट्रांसपेरेंट शीट वाला मास्क डिजाइन किया है। इसकी पेटेंट के लिए भी उन्होंने आवेदन कर दिया है। अगर पेटेंट मिल जाता है तो वह इसकी प्रोडक्शन बड़े स्तर पर करने की योजना बना रहे हैं। इसके लिए इन्वेस्टर भी ढूंढ रहे हैं।

ट्रांसपेरेंट शीट का किया इस्तेमाल

माणिक ने बताया कि ट्रांसपेरेंट शीट को सीधे पहले से चल रहे मास्क की तरह इस्तेमाल नहीं किया जा सकता था, इससे सांस लेने में तकलीफ होती। ऑक्सीजन की मात्रा शरीर काे पूरी नहीं मिल पाती। इस वजह से उसने एक नए आइडिया पर काम करते हुए ट्रांसपेरेंट शीट को मुंह से दूर रखा और चारों तरफ इंफेक्शन फ्री वॉशेबल कपड़े का इस्तेमाल किया। साइड में लगा यह कपड़ा शरीर को जरूरत के मुताबिक ऑक्सीजन देता है। जबकि सामने लगी शीट चेहरे काे छिपने नहीं देती। इससे पहले माणिक हैंड सेनिटाइज वॉच भी बना चुके हैं। जो खुद को सुरक्षित रखने में मदद करती है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!