जागरण संवाददाता, चंडीगढ़ : कोरोना को काफी हद तक चंडीगढ़ के रेजिडेंट्स और प्रशासन रोकने में कामयाब रहा है। अब इसको फूल प्रूफ रोकने की तैयारी हो गई है। अब पब्लिक प्लेस पर निकलने वाले हर व्यक्ति को मास्क या कपड़े से मुंह कवर करना अनिवार्य कर दिया गया है। मंगलवार को यूटी सेक्रेटेरिएट के वॉर रूम में प्रशासक वीपी सिंह बदनौर की अध्यक्षता में यह फैसला लिया गया। प्रशासक बदनौर ने प्रिसिपल सेक्रेटरी होम अरुण कुमार गुप्ता को कोविड मैनेजमेंट प्लान तैयार करने के आदेश दिए। एडवाइजर मनोज कुमार परिदा ने बताया कि सभी डिपार्टमेंट से जुड़ा कोविड-19 मैनेजमेंट प्लान तैयार किया जा रहा है। इस प्लान को गवर्नमेंट ऑफ इंडिया को भेजा जाएगा। एडवाइजर ने प्रशासक को जानकारी देते हुए बताया कि चंडीगढ़ में पॉजिटिव केस कम हुए हैं। अब 11 मरीज ही हॉस्पिटल में पॉजिटिव हैं। यह क‌र्फ्यू और फिजिकल डिस्टेंसिग का ही परिणाम है। प्रशासक ने डॉक्टरों और हेल्थ वर्कर्स की मेहनत को जमकर सराहा। नगर निगम कमिश्नर केके यादव ने बताया कि सेनिटाइजेशन के बाद मंगलवार को सीटीयू बसों के जरिये सब्जियों-फलों की सप्लाई फिर से शुरू हो गई है। बसों पर प्राइस लिस्ट चस्पा की गई है जिससे कोई वेंडर ओवरचार्जिग न कर सके। डीजीपी संजय बेनिवाल ने बताया कि लोकल मुस्लिम कम्युनिटी को घर में ही नमाज अदा करनी चाहिए। बिजली पानी के बिल रोके

बिजली और पानी के बिल प्रशासन ने अगले आदेशों तक रोक दिए हैं। पहले प्रशासन ने 15 अप्रैल तक बिल भरने की तिथि बढ़ाई थी। लेकिन अब इस दौरान तो लॉकडाउन ही रहेगा। फाइनेंस सेक्रेटरी एके सिन्हा ने बताया कि बिल जमा कराने की अंतिम तिथि बढ़ाने के लिए फाइल पहले से ही जमा कराई जा चुकी है। आगे बिल भरने की जो तिथि निश्चित होगी, वह बता दी जाएगी। फिलहाल बिलों को स्थगित कर दिया गया है। इसी तरह से गवर्नमेंट हाउसेज का रेंट और पुनर्वास कॉलोनियों के घरों का रेंट भी फिलहाल स्थगित कर दिया गया है। अब लोगों को इनका रेंट अभी जमा कराने की जरूरत नहीं है। 55 हजार खाने बांटे गए

डीसी मनदीप सिंह बराड़ ने बताया कि जरूरतमंदों को 55 हजार खाने के पैकेट बांटे गए हैं। क्रिमेशन ग्राउंड तक शव ले जाने के लिए अब रेडक्रॉस की एंबुलेंस का इस्तेमाल किया जा सकेगा। इसके लिए जरूरी इंतजाम कर लिए गए हैं। फैदां गांव में राशन के पैकेट बांटे गए हैं ताकि लोग घरों से बाहर न आएं। ऑनलाइन क्लासेज से होगी पढ़ाई

डायरेक्टर हायर एजुकेशन ने प्रशासक को बताया कि नौंवी और ग्यारहवीं कक्षा की पढ़ाई गूगल क्लासेज की मदद से ऑनलाइन कराई जा रही है। प्रशासक वीपी सिंह बदनौर ने पहली से आठवीं कक्षा तक भी इसी तरह से क्लासेज शुरू करने का सुझाव दिया। डायरेक्टर टेक्निकल एजुकेशन सचिन राणा ने बताया कि आइटीआइ, पॉलीटेक्निकल, इंजीनियरिग, आर्किटेक्चरल जैसी टेक्निकल क्लासेज को ऑनलाइन ही एक एप्लीकेशन की मदद से पढ़ाया जा रहा है। 1434 स्टूडेंट्स को स्किल ट्रेनिग भी ऑनलाइन ही दी जा रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!