चंडीगढ़ [विशाल पाठक]। इंडियन रेलवे स्टेशन डेवलपमेंट कारपोरेशन चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन को व‌र्ल्ड क्लास बनाने में जुटा है। लेकिन यात्रियों के लिए रेलवे स्टेशन पर मूलभूत सुविधाएं तक उपलब्ध नहीं हैं। स्वच्छता रैंकिंग में लगातार पिछड़ने के बावजूद चंडीगढ़ स्टेशन के वरिष्ठ अधिकारी इससे सबक नहीं ले रहे हैं। रेलवे स्टेशन पर आने वाले पैसेंजर्स की सुविधा के लिए जो वेटिंग रूम बनाए गए हैं। उन पर ताला लगा हुआ है। स्वच्छता की अगर बात करें तो रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर-1 पर ही साफ-सफाई रखी जाती हैं। अगर प्लेटफार्म नंबर-2, 3, 4 व 5 की बात की जाए तो यहां जगह-जगह गंदगी फैली हुई है। प्लेटफार्म पर यात्रियों के बैठने के लिए जो कुर्सियां लगाई गई हैं। वे टूटी पड़ी हैं। पानी की मशीनें बंद पड़ी हैं।

एग्जीक्यूटिव लांज भी पड़ा है बंद

सांसद किरण खेर ने 3 अक्टूबर 2016 को यहां पैसेंजर्स की सुविधा के लिए जिस एग्जीक्यूटिव लांज का उद्घाटन किया था। वह भी बंद पड़ा है। लांज के अलावा रोजाना सफर करने वाले पैसेंजर्स के लिए जो एसी विश्रामालय और अन्य वेटिंग रूम बनाए गए हैं। उन पर भी ताला लगा पड़ा है। इस बारे में अधिकारियों ने कहा कि रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर वेटिंग रूम व एग्जीक्यूटिव लांज बंद किए गए हैं।

कंपनी को कमाई नहीं हुई तो किया बंद

दो महीने पहले ही आइआरएसडीसी ने रेलवे स्टेशन पर पैसेंजर्स की सुविधा के लिए क्लॉक रूम और प्लेटफार्म टिकट काउंटर की शुरुआत की थी। लेकिन ये अब बंद हो चुके हैं। वीरवार को जब दैनिक जागरण संवाददाता ने यहां यात्रियों की सुविधाओं के लिए शुरू की गई सेवाओं का रियलिटी चेक किया। तब क्लॉक रूम और प्लेटफार्म टिकट काउंटर बंद पड़े मिले। रेलवे के अधिकारियों की मानें तो जिस प्राइवेट कांट्रेक्टर को क्लॉक रूम और प्लेटफार्म टिकट काउंटर चलाने की जिम्मेदारी दी गई थी। उस कंपनी के साथ जो प्रोफिट मार्जिन तय किया गया था। कंपनी की उतनी कमाई नहीं हो पा रही थी। इसके चलते पिछले कई दिनों से टिकट काउंटर व क्लॉक रूम बंद पड़ा है।

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!